बिहार राज्य फसल सहायता योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन

भारतीय कृषि कई समस्याओं से जूझ रही है। ये समस्याएँ प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से किसान के जीवन को प्रभावित करती है। भारतीय कृषि पद्धतिया और कृषि की अनेक गतिविधियाँ एक किसान के प्रयास के साथ- साथ समय भी लेती है। भारतीय किसानों के सामने आने वाली समस्याएं जैसे कि फसलों की कटाई की पूरी प्रक्रिया में किसी का ध्यान नहीं जाता है।

जल स्वराज या सिंचाई जल उपलब्धता में आत्मनिर्भरता समय की मांग है। यद्यपि हमारे देश में कुल वर्षा संतोषजनक है। इसका वितरण अत्यधिक विषम है। अधिकांश वर्षा एक वर्ष में 100 घंटों में होती है।

NOTE:- बिहार सरकार Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana के लिए epacs.bih.nic.in या pacsonline.bih.nic.in पर ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित कर रही है। इस बीमा योजना पंजीकरण से किसानों को प्राकृतिक आपदाओं के कारण उनकी फसलों को नुकसान होने की स्थिति में वित्तीय सहायता प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana 2023

बिहार राज्य फसल सहायता योजना की शुरुआत बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार द्वारा शुरू की गई है। बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत, राज्य सरकार 7,500 रुपए की राशि प्रदान करेगी। राज्य की फसलों की वास्तविक उपज दर के 20% तक की हानि के लिए प्रति हेक्टेयर और वास्तविक उपज दर में 20% से अधिक फसलों के नुकसान के मामले में, 10,000 रुपए की राशि प्रति हेक्टेयर प्रदान किया जाएगा।

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana की मदद से बिहार के किसानों को बाढ़, सूखा, प्राकृतिक आपदाओं से फसलों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए सरकार द्वारा किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है। और साथ ही उन्हें भविष्य में खेती करने के लिए प्रोत्साहित करना भी है।

फसल योजना से किसानों को मक्का व तोड़ी का बीज भी प्रदान किया जाएगा। साथ ही पूर्व की बाढ़ के कारण किसानों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए किसानों को आकस्मिक फसल सहायता योजना का लाभ दिया जाएगा।

अवश्य पढ़े,

Bihar Rajya Fasal Bima Yojana Highlights

योजना का नामबिहार राज्य फसल सहायता योजना
विभागसहकारिता विभाग, बिहार
लाभार्थीराज्य के क्षतिग्रस्त किसान
आवेदन की स्थितिएक्टिव
उद्देश्यखेती को बढ़ाबा देना
सहायता राशि 7500 से 10,000
योजना का प्रकारराज्य सरकार की योजना
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट      http://rcdonline.bih.nic.in

बिहार राज्य फसल सहायता के तहत किसानों को किया जाएगा भुगतान

राज्य सरकार द्वारा 15 मार्च को यह निर्धारित किया है कि Bihar Fasal Bima Yojana के अंतर्गत किसान को कितना मुआवजा प्रदान किया जाएगा। ये केवल उन्हीं किसान को मुअफ्ज़ा प्रदान किया जाएगा जिन्होंने अपना निबंधन करा लिया है।

मुआवजा के लिए इस समय केवल सोयाबीन, धान, मक्का आदि के खेती करने वाले किसानों के ही आवेदन स्वीकार किए जा रहा है। अतः मक्का के लिए बिहार राज्य के कोई भी किसान आवेदन कर सकते हैं।

जबकि सोयाबीन की खेती के लिए खगड़िया, बेगूसराय और समस्तीपुर जिले के ही किसान ही आवेदन कर सकते हैं। तथा धान के निबंधन के लिए 527 प्रखंडों के किसान को ही भुगतान किया जाएगा

रबी फसल की सहायता राशि का भुगतान

राज्य में खरीफ फसल के लिए 34 जिलों का चयन बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत किया गया है। सभी जिलों में इस चयन के तहत 16 लाख 30 हजार 288 किसानों का पंजीकरण संपन्न हुआ।

लेकिन जांच के उपरांत यह संख्या कम पाई गई क्योंकि, बिहार राज्य फसल सहायता योजना तहत राशि का भुगतान करने के लिए यह संख्या कम है। बिहार सरकार केवल जांच के उपरांत पात्र पाए गए किसानों को ही लाभ की राशि का भुगतान करेगी।

इस योजना के तहत सभी किसानों की जांच एवं भुगतान की प्रक्रिया जल्द पूरी की जाएगी। फसल की 1% से 20% तक क्षति होने पर प्रति हेक्टेयर ₹7,000 की सहायता बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत किसानों को प्रदान की जाएगी। यदि रबी फसल की क्षति 20% से अधिक होती है, तो अनुदान की राशि ₹10,000 प्रति हेक्टेयर होगी।

निम्न फसलों की भरपाई की जाएगी

  • यदि चने की फसल का नुकसान प्रकृति के कारण होता है तो राज्य के 17 जिलों को भरपाई की जाएगी
  • मसूर की फसल पर 35 जिलों को भरपाई की जाएगी
  • गेहूं तथा मक्का पर राज्य के 38 जिलों को भरपाई की जाएगी
  • चना, मसूर, अरहर, राई, सरसों, ईख, प्याज एवं आलू को जिला स्तर पर अधिसूचित किया जाएंगा।
  • अरहर की फसल पर 22 जिलों को भरपाई की जाएगी
  • ईख की फसल पर 16 जिलों को भरपाई की जाएगी
  • राई तथा सरसों की फसल के लिए  राज्य के सभी जिलों को भरपाई की जाएगी
  • प्याज की फसल पर 14 जिलों को भरपाई की जाएगी तथा आलू की फसल पर 15 जिलों को भरपाई की जाएगी।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना का उद्देश्य

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि प्राकृतिक आपदाओं, मौसम की स्थिति के कारण राज्य के किसानों की फसलों को नुकसान होने की स्थिति में Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana के तहत सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

इस योजना के तहत यदि प्रति हेक्टेयर 20% फसल का नुकसान होता है, तो 7500 रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। नुकसान ज्यादा होने पर 10,000 तक के दावे मिलते हैं। लेकिन अगर किसान के पास दो हेक्टेयर से ज्यादा जमीन है तो किसी भी तरह का कोई फायदा नहीं मिलेगा।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना का लाभ

  • बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत कृषि विभाग अलग से इनपुट अनुदान देता है।
  • इसमें संचित क्षेत्र और असिंचित क्षेत्र के लिए 13,500 रुपए प्रति हेक्टेयर शामिल हैं।
  •  किसी भी किसान को कम से कम 1000 रुपये देने का प्रावधान है।
  •  कटाई के आधार पर फसल के नुकसान का आकलन कर मुआवजा दिया जाता है।
  •  20 प्रतिशत से कम भले ही आधा प्रतिशत  हानि होने पर 7500 रुपए प्रति हेक्टेयर का मुआवजा दिया जाएगा।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना की विशेषताएं

  • बिहार फसल बीमा योजना के तहत किसानों को मुआवजा देने के लिए सरकार की राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी।
  •  इस योजना के तहत बाढ़, आंधी, ओलावृष्टि और बेमौसम बारिश होने वाले नुकसान को भी शामिल किया गया है।
  • 37 जिलों की 2201 पंचायतों के 2.97 लाख किसानों की जांच पूरी की गई है।
  •  बीमा कंपनी की भूमिका, सरकार फसल के नुकसान का आकलन कर मुआवजा देती है।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना के लिए पात्रता मानदंड

  • आवेदक बिहार राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  •  केवल वही किसान आवेदन कर सकते हैं जिनके फसल प्राकृतिक आपदाओं, मौसम के कारण खराब हो गई है।
  • खाता आधार कार्ड से जुड़ा होना चाहिए।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  •  पहचान पत्र
  •  बैंक पासबुक
  •  कृषि भूमि के कागजात
  •  मोबाइल नंबर
  •  पासपोर्ट आकार का फोटो
  • रैयत कृषक के लिए
    • भू स्वामित्व प्रमाण पत्र
    • स्वघोषणा  प्रमाण पत्र
  • गैर रैयत कृषक के लिए
    • स्व- घोषणा प्रमाण पत्र

बिहार राज्य फसल सहायता योजना के लिए आवेदन कैसे करे?

इस वर्ष फसल में हुए नुकसान का मुआवजा प्राप्त करने के लिए बिहार राज्य फसल सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है, तो निचे दिए गए steps को फॉलो अवश्य करे:

  • सबसे पहले बिहार राज्य फसल सहायता योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ
  • ऑफिसियल वेबसाइट का होम पेज इस प्रकार खुलेगा
BIhar Rajya Fasal Yojana Awedan
  • ऊपर दिखाए गए arrow पर क्लिक करे
  • क्लिक करने के बाद इस प्रकार का पेज खुलेगा
Bihar Rajya Fasal Yojana Registration
BIhar Rajya Fasal Yojana Panjikaran
  • आधार कार्ड के हाँ के ऑप्शन पर क्लिक कर आधार नंबर दर्ज करे
  • अब आधार कार्ड से रजिस्टर मोबाइल नंबर पर एक पासवर्ड (otp) प्राप्त होगा, उसे सत्यापित करे।
  • सत्यापित करने के बाद आपका पंजीकरण प्रक्रिया पूरा हो जाएगा।

संपर्क विवरण

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana से सम्बंधित सभी आवश्यक जानकारी यहाँ उपलब्ध है, जो आवेदन करने में सहायता प्रदान करता है. यदि आवेदन करने या रिपोर्ट देखने में कोई समस्या हो, रहा हो, तो निचे दिए एड्रेस पर संपर्क करे

  • Helpline Number: 18003456290
  • Email ID: kisanreghelp@gmail.com

FAQs

1) बिहार राज्य फसल सहायता योजना क्या है?

 राज़ फसल सहायता योजना के अंतर्गत प्राकृतिक रूप से आई आपदा के कारण फसल में हुए नुकसान की वजह से सहायता राशि प्रदान की जाएगी। यह राशि लाभार्थी किसानों के बैंक खाते में भेज दी जाएगी। इसके लिए आवेदक को स्वयं का पान खाता होना बहुत ज़रूरी है। जिससे किसानों की बर्बाद हुई फसल की भरपाई हो सके।

2) बिहार फसल सहायता योजना का आवेदन करने के लिए अधिकारिक वेबसाइट किया है?

 फसल सहायता योजना का आवेदन करने के लिए अधिकारिक वेबसाइट pacsonline.bih.nic.in/fsy है।

3) कैसे चेक करें खाते में मुआवजा का पैसा आया है या नहीं?

  • इसके लिए सबसे पहले आपको बैंक जाकर पता करना होगा या फिर घर बैठे बैंक के टोल फ्री नंबर पर कॉल कर खाते की पूरी जानकारी लेना होगा।
  • आपके बैंक खाते से जो मोबाइल नंबर लिंक है उसका मैसेज चेक करें।

4) बिहार राज्य फसल सहायता योजना का लाभ कौन उठा सकते हैं?

 बिहार राज्य फसल सहायता योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं जिनकी प्राकृतिक आपदा के कारण फसलों को नुकसान पहुंचा है।

5) बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत कितनी सहायता राशि प्रदान की जाती है?

 बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत योजना की सहायता राशि 7500 रुपये से लेकर 10,000 रुपये तक प्रदान की जाती है।

Leave a Comment