राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना 2023: आवेदन

राजस्थान देश के कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का 10.4% के साथ भारत का सबसे बड़ा राज्य है। भारत के उत्तर पश्चिम में स्थित, राजस्थान  में विकास की अपार सम्भावनाएं है, जिसका दुर्भाग्य से पर्याप्त रूप से लाभ नहीं उठाया गया है। राज्य अर्थव्यवस्था कि धीमी विकास दर और कम प्रति व्यक्ति आय के साथ एक अविकसित क्षेत्र बना हुआ है।

राजस्थान मुख्य रूप से एक कृषि प्रधान राज्य है। लेकिन वर्तमान में राज्य की कृषि कई संकटों का सामना कर रही है। शुष्क जलवायु, किसानों के बीच  गरीबी, सूखा, अकाल, ओलावृष्टि, कीट और रोग बाधाएं,ऋणग्रस्त आदि राज्य के किसान के सामने सबसे अधिक बड़ी संकट है।

NOTE:- Krishi Upaj Rahan Loan Yojana के तहत, सरकार छोटे और सीमांत किसानों को उनकी उपज के आधार पर ₹1.5,00,000 रुपये प्रदान करेगी। साथ ही बड़े पैमाने के किसानों को 11% ब्याज दर पर ऋण के रूप में ₹3,00,000 रुपये प्रदान करेगी। योजना का उद्देश्य किसानों के लिए अल्पकालिक ऋण सुविधा प्रदान करना है।

Rajasthan Krishi Upaj Rahan Loan Yojana 2023

राजस्थान कृषि उपज रहान ऋण योजना राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा शुरू की गई एक अत्यंत लाभकारी योजना है। इस योजना के तहत राज्य के छोटे और सीमांत किसानों को कम ब्याज दरों पर ऋण उपलब्ध कराया जाएगा।

इस योजना से छोटे और सीमांत किसानों के लिए खेती करना आसान हो जाएगा। सरकार द्वारा छोटे और सीमांत किसानों को 1.5 लाख रुपये तक का ऋण उपलब्ध कराया जाएगा, इसके अलावा बड़े पैमाने पर कृषि कार्य के लिए तीन लाख रुपये तक का ऋण प्रतिवर्ष  11 प्रतिशत की दर से उपलब्ध कराया जाएगा।

राजस्थान कृषि उपज रहान ऋण योजना के तहत अल्पावधि ऋण 90 दिनों का प्रदान किया जाएगा। लेकिन विशेष परिस्थितियों में इसे छह महीने तक बढ़ाया जा सकता है। साथ ही समय पर कर्ज चुकाने वाले किसानों को ब्याज पर दो फीसदी की छूट मिलेंगी। योजना का उद्देश्य किसान परिवार की तत्काल जरूरतों को पूरा करना है।

राजस्थान कृषि उपज रहान ऋण योजना की जानकारियां

किसान वह व्यक्ति होता है, जो खेतों में दिन रात की परवाह किए बिना,काम करते हैं। कुछ किसान विभिन्न प्रकार के खाद्य फसलें उगाते हैं, जबकि अन्य डेयरी गाय रखते हैं और उससे व्यवसाय करते हैं।

किसान कृषि के किसी न किसी पहलू में काम करते हैं, सब्जियों अनाज या फल उगाते हैं या फिर दूध, अंडे या मांस के लिए जानवरों को पालते हैं। एक छोटा किसान भूमि के अपेक्षाकृत छोटे टुकड़े पर प्रबंधन करता है उदाहरण के लिए अक्सर विभिन्न फसलें उगाता है और अपने अंडों के लिए मुर्गिया रखता है। कुछ किसान अपने खेतों के मालिक हैं। जबकि अन्य उस जमीन को किराये पर देते हैं जिसपर वे काम करते हैं।

राजस्थान कृषि उपज रहान ऋण योजना के तहत, सरकार जरूरतमंद एवं छोटे और सीमांत किसानों को ऋण उपलब्ध करवाती है।इस योजना के तहत, राज्य के छोटे और सीमांत किसानों को केवल 3% ऋण बैंक को वापस करना होगा और शेष  7% ब्याज राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

जरुर पढ़े, जल स्वावलंबन अभियान

Rajasthan Krishi Upaj Rahan Loan Yojana Highlights

योजना का नामराजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना
राज्यराजस्थान
शुरू की गयीमुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा
विभागकृषि विभाग
लाभार्थीराज्य के लघु एवं सीमांत किसान
लॉन्च की गयी1 जून 2020
ब्याज दर11%
ब्याज राशि का भुगतान3%
उद्देश्यकिसानों को कृषि कार्य हेतु लोन सहायता
आधिकारिक वेबसाइटhttp://www.agriculture.rajasthan.gov.in

राजस्थान कृषि उपज रहान ऋण योजना के तहत आने वाली महत्वपूर्ण बातें

दुनिया में दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश भारत हैं। भारत ने स्थिर आर्थिक विकास का आनंद लिया है और हाल के वर्षों में अनाज उत्पादन में आत्मनिर्भरता हासिल की है। इसके बावजूद गरीबी, खाद्य असुरक्षा और कुपोषण का उच्च स्तर बना हुआ है। लगभग 21.25प्रतिशत आबादी 1 दिन में 1.90 अमेरिकी डॉलर से भी कम पर जीवन यापन करती है और असमानता और सामाजिक बहिष्कार का स्तर बहुत अधिक है।भारत का सबसे बड़ा राज्य, राजस्थान भी एक कृषि उत्पादक राज्य है। लेकिन राज्य के अंदर किसानों को कृषि के लिए बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि कोरोना वायरस के कारण देश भर में लॉकडाउन की स्थिती बन गई थी, जो भारत की अर्थव्यवस्था को बेहद जर्जर कर चुकी है और साथ ही राज्य की व्यवस्था भी बेहद खराब हो चुकी है। लेकिन राज्य सरकार अब इसे हल करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है।

NOTE:-भारत दुनिया भर में सभी कुपोषित लोगों का एक चौथाई घर है। जिससे देश वैश्विक स्तर पर भूख से निपटने के लिए एक प्रमुख केंद्र बन गया है। पिछले दो दशकों में, प्रति व्यक्ति आय तीन गुना से अधिक हो गई है, फिर भी न्यूनतम आहार सेवन में गिरावट आई है। उच्च आर्थिक विकास की इस अवधि के दौरान अमीर और गरीब के बीच की खाई बढ़ गई है।

राजस्थान कृषि उपज रहान ऋण योजना की मुख्य विशेषताएं

  • कृषि उपज रहान ऋण अधिकतम छह माह की अवधि के लिए दिया जाएगा।
  • इस योजना के तहत राज्य के छोटे और सीमांत किसानों को केवल 3% ऋण बैंक को वापस करना होगा।
  • कृषि उपज रहान ऋण का शेष 7% ब्याज राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
  • Rajasthan Krishi Upaj Rahan Loan Yojana के तहत राजस्थान सरकार ने 1 जून से शुरू हो रही इस योजना में 25,000 किसानों को लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखा है।
  • यह योजना राज्य के सभी जिलों में लागू की गई है, जिसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा।
  • राज्य के किसानों का अपना बैंक खाता होना चाहिए और बैंक खाते को आधार कार्ड से जुड़ा होना चाहिए।

राजस्थान कृषि उपज रहान ऋण योजना का उद्देश्य

  1. कृषि उपज रहान ऋण योजना, राजस्थान सरकार द्वारा राज्य के किसानों को लाभान्वित करने के लिए शुरू की गई एक अत्यन्त लाभकारी योजना है।
  2. इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को आसान किश्तों और कम ब्याज दरों पर ऋण उपलब्ध कराना है।
  3. Rajasthan Krishi Upaj Rahan Loan Yojana में राज्य सरकार राज्य के छोटे और सीमांत किसानों को ऋण सुविधा प्रदान करेगी।
  4. इस योजना के तहत सभी छोटे और सीमांत किसान कम ब्याज दर पर आसान किश्तों के साथ 1.5 लाख तक का ऋण प्राप्त कर सकते हैं।
  5. उच्च स्तरीय कृषि कार्य के लिए राज्य सरकार ने तीन लाख तक की ऋण सुविधा प्रदान करने का निर्णय लिया है।

इसे भी पढ़े, राजस्थान शुभ शक्ति योजना

राजस्थान कृषि उपज रहान ऋण योजना का लाभ

  • राजस्थान कृषि उपज रहान ऋण योजना का लाभ भी राज्य के किसान नागरिको को ही दिया जाएगा।
  • इस योजना के तहत केवल उन्हीं किसानों को लाभ मिलेगा जो पहले से ही GSS और LAPMS के तहत पंजीकृत हैं।
  • Rajasthan Krishi Upaj Rahan Loan Yojana के तहत किसानों को उनकी उपज पर रखकर 1.5 लाख से तीन लाख रुपये तक 3% ब्याज दर पर ऋण दिया जाएगा।
  • योजना के तहत समय पर कर्ज चुकाने वाले किसानों को ब्याज दर पर 2% की छूट दी जाएगी।
  • राजस्थान फसल उपज जीवन यापन ऋण योजनाओं को सुचारु रूप से चलाने के लिए राज्य सरकार हर साल 50 करोड़ रुपये की अनुदान राशि प्रदान करेगी।
  • Rajasthan के वे किसान जिनके पास दो हेक्टेयर से कम जमीन है वे भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

राजस्थान कृषि उपज रहान ऋण योजना के लिए पात्रता मानदंड

  1. आवेदक को राजस्थान का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है।
  2. इस योजना के तहत राज्य के छोटे और सीमांत किसान ही पात्र होंगे।
  3. जिन किसानों के पास एक हेक्टेयर से कम जमीन है, उन्हें भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  4. दो हेक्टेयर से कम जमीन वाले किसान भी इस योजना के लिए पात्र हैं।
  5. इस योजना का लाभ केवल राजस्थान राज्य का निवासी किसान ही उठा सकता है।
  6.  राजस्थान राज्य के किसी भी जिले में रहने वाले किसान इस योजना के लिए पात्र होंगे।
  7. जो किसान समय पूरा होने पर ऋण चुकाते हैं, उन्हें ब्याज पर अतिरिक्त 2% की छूट दी जाएगी।

राजस्थान कृषि उपज रहान ऋण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक का आधार कार्ड ( Applicant’s Aadhaar card)
  • पहचान पत्र ( Identity card)
  • पता प्रमाण ( Address proof)
  • बैंक खाता पासबुक (जिन बैंक से ऋण लिया जाना है उस बैंक में खाता होना चाहिए) ( Bank account passbook)
  • फसल संबंधित दस्तावेज ( Crop related documents)
  • भूमि मोबाइल नंबर से संबंधित महत्वपूर्ण दस्तावेज ( Important documents related to land mobile number)
  • पासपोर्ट साइज फोटो ( Passport size photograph)

राजस्थान कृषि उपज रहान ऋण योजना में रजिस्ट्रेशन कैसे करे

Krishi Upaj Rahan Loan Yojana के तहत अब किसान अपनी उपज को जीवित रखकर मात्र 3% ब्याज दर पर ऋण प्राप्त कर सकेंगे। जबकि 7% ब्याज राज्य सरकार द्वारा किसान कल्याण कोष से वहन किया जाएगा। पहले केवल 2% ब्याज राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाता था।ग्राम सेवा सहकारी समितियों के सदस्यों को छोटे और सीमांत किसानों के लिए 1.50 लाख रुपये और बड़े किसानों के लिए तीन लाख रुपये ऋण के रूप में दिया जाएगा।

किसान को उसकी कृषि उपज की राशि का 70% तक ऋण मिलेंगे। इससे किसान की तत्काल वित्तीय जरूरतें पूरी होंगी। किसान अपनी फसल को बाज़ार में अच्छी कीमत पर बेच सकेंगे। सभी पात्र आवेदक जो इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो उन्हें सभी निर्देशों को ध्यान से पालन करना होगा।

अवश्य पढ़े, राजस्थान मुफ्त ट्रैक्टर एवं कृषि यंत्र योजना

राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना में आवेदन कैसे करे?

  • सबसे पहले कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।
  • ऑफिसियल वेबसाइट से कृषि उपज रहन ऋण योजना के ऑप्शन में क्लिक करे।
  • क्लिक करने के बाद एक आवेदन फॉर्म open होगा
  • आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे आवेदक का नाम ,मोबाइल नंबर, पता, बैंक विवरण, जिला, क्षेत्र, फसल, भूमि, आधार कार्ड नंबर, आदि दर्ज करे।
  • सभी जानकारी भरने के बाद फॉर्म के साथ सभी आवश्यक दस्तावेजों की स्कैन कॉपी को अपलोड करे
  • सभी प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक करें।
  • इस तरह Rajasthan Krishi Upaj Rahan Loan Yojana में आपका सफलतापूर्वक आवेदन हो जाएगा

Leave a Comment