प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना: ऑनलाइन आवेदन एवं फॉर्म

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना की शुआरंभ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा देश के गरीब परिवारों को बिजली की सुविधा प्रदान करने के लिए विशेष रूप से किया गया है। इस योजना के अंतर्गत देश के गरीब परिवारों को जिनके पास बिजली कनेक्शन नही है उन्हें मुफ्त कनेक्शन प्रदान किया जाएगा.

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना (प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना) ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में देश के सभी इच्छुक घरों का विद्युतीकरण  सुनिश्चित करने के लिए एक योजना है।

जून 2019 तक 91% ग्रामीण भारतीय घरों में प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के तहत बिजली पहुँच गई है। टिप्पणीकारों ने उल्लेख किया है कि यह योजना गरीब और ग्रामीण घरों में बिजली की क्षमता प्रदर्शन करेगी। अक्टूबर 2018 में, बिहार ने PM Saubhagya Yojana के तहत इच्छुक घरों के 100% विद्युतीकरण के अपने लक्ष्य को पूरा किया है।

Table of Contents

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना | प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना

सौभाग्य योजना या प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना घरों को बिजली प्रदान करने के लिए भारत सरकार की एक परियोजना है। प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना की घोषणा सितंबर 2017 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई थी, जिन्होंने कहा था कि इसका उद्देश्य दिसंबर 2018 तक विद्युतीकरण प्रक्रिया को पूरा करना है।

PM Saubhagya Yojana या प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना देश में सर्वभौमिक घरेलू विद्युतीकरण प्राप्त करने के लिए ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में सभी शेष गैर विद्युतीकृत घरो में अंतिम मील कनेक्टिविटी और बिजली कनेक्शन द्वारा सभी तक ऊर्जा पहुँच प्रदान करना है।

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 25 सितंबर 2017 को नई दिल्ली में दीनदयाल उर्जा भवन में प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना या प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना का शुभारंभ किया।

इसे भी पढ़े, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना

PM Saubhagya Yojana Highlights

योजना का नामप्रधानमंत्री सौभाग्य योजना
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाएं
शुरू किया गया प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा
लॉन्च की तिथि25 सितम्बर 2017
लाभार्थीदेश के गरीब परिवार
उद्देश्यगरीब लोगो को मुफ्त में बिजली कनेक्शन देना
आवेदन का प्रक्रियाऑनलाइन मोड
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://saubhagya.gov.in/

पीएम सौभाग्य योजना का कुल बजट

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना का कुल लागत 16,320 करोड़ रुपये है, जबकि सकल बजटीय सहायता (GBS) ₹12,300 करोड़ है। ग्रामीण परिवारों के लिए कुल लागत 14,025 करोड़ रुपये है. जबकि सकल बजटीय सहायता (GBS) 10,587.50 करोड़ है।

शहरी परिवारों के लिए प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना का कुल लागत 2,295 रुपये करोड़ है. जबकि सकल बजटीय सहायता (GBS) 1,732.50रुपये करोड़ है। भारत सरकार सभी राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों को इस योजना के लिए बड़े पैमाने पर धन उपलब्ध कराएगी। राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को 31 दिसंबर 2018 तक घरेलू विद्युतीकरण के कार्यों को पूरा करना आवश्यक है।

अवश्य पढ़े,

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनाप्रधानमंत्री रोजगार योजना
फ्री सिलाई मशीन योजनासुकन्या समृद्धि योजना

PM Saubhagya Yojana का क्रियान्वयन

योजना के आसान और त्वरित क्रियान्वयन के लिए मोबाइल एप के माध्यम से घरेलू सर्वेक्षण के लिए आधुनिक तकनीक का उपयोग किया जाएगा। लाभार्थियों की पहचान की जाएगी और बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन को आवेदक की तस्वीर और पहचान प्रमाण  के साथ मौके पर ही पंजीकृत किया जाएगा।

ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम पंचायत/सार्वजनिक संस्थानों को पंचायत राज्य के परामर्श से पूर्ण दस्तावेज के साथ आवेदन पत्र एकत्र करने, बिल वितरित करने और राजस्व एकत्र करने के लिए अधिकृत किया जा सकता है। ग्रामीण विद्युतीकरण निगम लिमिटेड पूरे देश में योजना के संचालन के लिए नोडल एजेंसी रहेंगी।

पीएम सौभाग्य योजना वितरण क्षेत्र

दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति की गुणवत्ता और विश्वसनीयता में सुधार के लिए गांव/बस्तियों में बुनियादी बिजली के बुनियादी ढांचे के निर्माण, मौजूदा बुनियादी ढांचे को मजबूत करने और बढ़ाने, मौजूदा फीडरों/वितरण ट्रांसफार्मर/उपभोक्ताओं की मीटिंग की परिकल्पना की गई है।

इसलिए, इस तरह के अंतराल को दूर करने और ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में सभी गैर विद्युतीकृत घरों में प्रवेश बाधा, अंतिम मील कनेक्टिविटी और बिजली कनेक्शन जारी करने के मुद्दों को व्यापक रूप से संबोधित करने के लिए PM Saubhagya Yojana की शुरुआत की गई है।

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के अंतर्गत चयनित राज्यों की सूची

  • राजस्थान
  • बिहार
  • उड़ीसा
  • उत्तर प्रदेश
  • जम्मू कश्मीर
  • मध्य प्रदेश
  • झारखंड
  • पूर्वोत्तर के राज्य

इसे भी पढ़े, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

अनुमानित लाभार्थी परिवारों की संख्या

परिवारसंख्या
कुल ग्रामीण परिवार1796 lakh
विद्युतीकृत ग्रामीण परिवार की संख्या1336 lakh
शेष अविद्युतीकृत ग्रामीण परिवार460 lakh
वैसे BPL परिवार जिन्हें DDUGJY के अंतर्गत स्वीकृति मिल गई है लेकिन अभी तक विद्युतीकृत नहीं किया गया है179 lakh
शेष परिवार281 lakh
शहरी क्षेत्रों में आर्थिक रूप से गरीब आविद्युतिकृत परिवार50 lakh
कुल आसिद्युतिकृत परिवार जो अभी तक कवर ना किए गए है331 lakh

देश के अविद्युतीकृत घरों की संख्या

 राज्यकुल ग्रामीण परिवार (in lakh)विद्युतीकृत परिवार (in lakh)अविद्युतीकृत परिवार (in lakh)  
 आंध्र प्रदेश 112.78 112.780
 अरुणाचल प्रदेश 2.32 1.510.81
 आसाम 51.88 27.7824.10
 बिहार 123.46 58.7664.70
 छत्तीसगढ़ 45.06 38.646.42
 गोवा 1.28 1.280.00
 गुजरात 66.59 66.590.00
 हरियाणा 34.24 27.426.82
 हिमाचल प्रदेश 14.70 14.570.13
 जम्मू एंड कश्मीर 12.91 10.212.70
 झारखंड 54.81 24.3930.42
 कर्नाटका 94.94 87.787.16
 केरला 71.04 71.040.00
 मध्य प्रदेश 114.00 69.0544.95
 महाराष्ट्र 139.14 135.533.61
 मणिपुर 3.88 2.811.07
 मेघालय 4.63 3.241.39
 मिजोरम 1.10 0.990.11
 नागालैंड 1.60 0.720.88
 उड़ीसा 86.60 53.9832.62
 पंजाब 36.89 36.890.00
 राजस्थान 90.07 69.9320.14
 सिक्किम 0.37 0.320.05
 तमिल नाडु 102.83 102.830.00
 तेलंगाना 59.73 55.634.10
 त्रिपुरा 7.96 5.802.16
 उत्तर प्रदेश 302.34 155.87146.47
 उत्तराखंड 17.32 15.471.85
 वेस्ट बंगाल 138.26 136.931.33
 पुडुचेरी 1.02 1.020.00
 कुल 1793.87 1389.81404.06

ऊपर दिए गए सभी आंकड़ो की माप लाख में है.

अवश्य पढ़े, प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना: पात्रता, आवेदन आदि का विवरण

आर्थिक विकास और रोजगार सृजन

रौशनी के लिए मिट्टी के तेल के उपयोग को बिजली के साथ बदलने से केरोसीन पर वार्षिक सब्सिडी कम होगी और पेट्रोलियम उत्पादों के आयात को कम करने में भी मदद मिलेंगे।

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के तहत प्रत्येक घर में बिजली सभी प्रकार के संचार जैसे रेडियो, टेलीविजन, इंटरनेट, मोबाइल इत्यादि तक बेहतर पहुँच प्रदान करेगी जिसके माध्यम से हर कोई इन संचार माध्यमों के माध्यम से उपलब्ध सभी प्रकार की महत्वपूर्ण जानकारी तक पहुँच सकेंगे।

चुकी घरेलू विद्युतीकरण के कार्यों के निष्पादन के लिए अर्धकुशल/कुशल जनशक्ति की आवश्यकता को देखते हुए प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के कारण से ही रोजगार सृजन होगा। योजना के कार्यान्वयन के लिए लगभग 1,000 लाख मानव दिवस कार्य सृजित किए जाएंगे।

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना का उद्देश्य

PM Saubhagya Yojana का उद्देश्य देश में सभी सार्वभौमिक घरेलू विद्युतीकरण प्राप्त करने के लिए ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में सभी शेष गैर विद्युतीकृत घरों में अंतिम मील कनेक्टिविटी और बिजली कनेक्शन द्वारा सभी तक ऊर्जा पहुँच प्रदान करना है।

बिजली की समस्या को दूर करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना को आरम्भ किया है। इस योजना के तहत देश के जिन ग्रामीण और शहरी क्षेत्रो में गरीब परिवारों के घरो में बिजली नहीं है उन्हें मुफ्त में बिजली कनेक्शन उपलब्ध करना और उनके घरो को रोशन करना है।

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के लाभ

सामाजिक आर्थिक और जाति जनगणना 2011 के आंकड़ों का उपयोग करके मुफ्त बिजली कनेक्शन के लाभार्थियों की पहचान की जाएगी। हालांकि गैर विद्युतीकृत घरों को SECC डेटा के तहत कवर नहीं किया गया है.

उन्हें भी योजना के तहत बिजली कनेक्शन प्रदान किया जाएगा।₹500 जो DISCOMS द्वारा बिजली बिल के माध्यम से 10 किस्तों में वसूल किया जाएगा।

  • इस योजना के अंतर्गत देश के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रो के गरीब परिवारों को मुफ्त बिजली प्रदान किया जायेगा।
  • Pradhanmantri Saubhagya Yojana निश्चित रूप से देश में समग्र आर्थिक विकास में सुधार करने और युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने में मदद करेगा।
  • प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना के तहत 3 करोड गरीब लोगों को लाभ प्रदान कराने का उद्देश्य है
  • जिन इलाको में  बिजली पहुंचाना संभव नहीं है, वहाँ सोलर पैक का लाभ प्रदना किया जाएगा।
  • 5 एलईडी लाइटें, एक डीसी पंखा, एक डीसी पावर प्लग और पांच वर्ष तक इसकी मरम्मत का खर्च सरकार उठाएगी।
  • निशुल्क बिजली कनेक्शन का लाभ प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना अनिवार्य है।
  • इस पहल से युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा होगा।

इसे भी पढ़े, प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना: पात्रता, आवेदन प्रक्रिया आदि

सौभाग्य योजना के लिए पात्रता मानदंड

इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को एक गरीब परिवार से संबंधित होना चाहिए और उनके घर में बिजली का कनेक्शन नहीं होना चाहिए। यह मुफ्त बिजली कनेक्शन उन गरीब परिवारों को मुहैया कराया जाएगा जिनका नाम सामाजिक-आर्थिक जनगणना में दर्ज होगा।

कोई भी गरीब परिवार जिसका नाम सूची में नहीं है, वह एक बार में या 10 किश्तों में 500 रुपये शुल्क देकर आवेदन करने के लिए योग्य समझे जाते है।

PM सौभाग्य योजना के अंतर्गत अपात्रता

सामान्यतः पात्रता के सम्बन्ध में हमेशा बात किया जाता है. लेकिन यहाँ अपात्रता के सम्बन्ध में कुछ आवश्यक पहलुयों को दर्शाया गया है. क्योंकि, इसके अनुसार वह परिवार मुफ्त बिजली कनेक्शन के पात्र नही होते है.

  • वैसे परिवार जिनमें 2/3/4 व्हीलर या फिशिंग बोट फ्री कनेक्शन के लिए पात्र नही है।
  • 3 से 4 व्हीलर वाले कृषि उपकरणों वाले परिवार।
  • 50,000 रुपए से ज्यादा किसान क्रेडिट कार्ड लिमिट होने वाले परिवार।
  • सरकारी कर्मचारी इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त कर सकते।
  • यदि परिवार में कोई सदस्य ₹10,000 से ज्यादा Monthly कमा रहा हो।
  • परिवार में इनकम टैक्स देने वाले सदस्य होने पर भी इस योजना का लाभ प्राप्त नही होगा।
  • घर में फ्रिज या लैंडलाइन फोन होने पर भी इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा।
  • वह परिवार जो गैर कृषि क्षेत्र में सरकार द्वारा पंजीकृत हो।
  • यदि घर में 3 से ज्यादा पक्के कमरे होने पर इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त किया जा सकता।
  • 5 एकड़ से ज्यादा जमीन वाले किसान भी इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त कर सकते हैं।
  • किसान के पास 2.5 एकड़ जमीन तथा एक कृषि उपकरण होने पर भी इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा।

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पेन कार्ड वोटर आईडी कार्ड
  • पते का सबूत
  • मोबाइल नंबर
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • इसके अलावे
  • आवेदन गरीब परिवार का सदस्य होना चाहिए जिनके घर में बिजली कनेक्शन नहीं हो।
  • मुफ्त बिजली कनेक्शन सिर्फ उन गरीब परिवारों को मिलेगी जिनका नाम सामाजिक -आर्थिक जनगणना में दर्ज होगा।
  • जिन गरीब परिवारों का नाम जनगणना list में दर्ज नहीं होगा, उन्हें इसके लिए 500 रुपये देने होंगे जिसे 10 किस्तों में भरा जा सकता है।

अवश्य पढ़े, स्त्री स्वाभिमान योजना: लाभ, उद्देश्य, रजिस्ट्रेशन, दस्तावेज आदि

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना में आवेदन कैसे करे

PM Saubhagya Yojana के अंतर्गत लाभ के लिए 16 नवंबर 2017 को एक वेब पोर्टल http://saubhagya.gov.in/ बनाया गया है। जिससे कोई भी जानकारी सरलता से प्राप्त किया जा सकता है। कोई भी व्यक्ति बिजली कनेक्शन लेने के लिए अपना नाम पंजीकृत करवा सकता है।

आवेदन करने के लिए निम्न प्रक्रिया को फॉलो करे:

सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://saubhagya.gov.in/ जाएँ
होम पेज के Guest आप्शन पर क्लिक करे
Guest ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद सिग्न इन के ऑप्शन पर क्लिक करे
उसके बाद सामने लॉगिन पेज open होगा
Role ID और पासवर्ड डाले
साइन-इन बटन पर क्लिक करके खुद को रजिस्टर करना होगा
इस तरह आप प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना में सफलता पूर्वक रजिस्ट्रेशन कर सकते है

ये सभी प्रक्रिया आप ऑफिसियल मोबाइल ऐप को डाउनलोड करके भी कर सकते है. वहाँ ये प्रक्रिया थोड़ा सरल होता है. इसलिए, दोनों प्रकार की जानकारी प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के माध्यम प्रदान किया गया है. यदि कोई संदेह हो तो कृपया हमे कमेंट अवश्य करे.

Leave a Comment