पीएम आवास योजना ऑनलाइन आवेदन 2023: पात्रता, उद्देश्य एवं लाभ

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी मिशन 25 जून 2015 को शुरू किया गया था, जो वर्ष 2023 तक शहरी क्षेत्रों में सभी के लिए आवास उपलब्ध कराने का इरादा रखता है। मिशन राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) और केंद्रीय नोडल एजेंसियों CNAS के माध्यम से कार्यान्वयन एजेंसियों को केंद्रीय सहायता प्रदान करता है।

सभी पात्र परिवारों लाभार्थियों को लगभग 1.12,00,00,000 के घरों की वैध मांग के विरुद्ध आवास उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना दिशा निर्देशों के अनुसार आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग ईडब्ल्यूएस के लिए एक घर का आकार 30 वर्ग मीटर तक हो सकता है। कार्पेट एरिया हालांकि राज्यों केंद्रशासित प्रदेशों के पास मंत्रालय के परामर्श और अनुमोदन से घरों के आकार को बढ़ाने का लचीलापन है।

Table of Contents

प्रधानमंत्री आवास योजना 2023

पीएम आवास योजना पीएमएवाई भारत सरकार की एक पहल है जिसमें शहरी गरीबों को 31 मार्च 2023 तक 2,00,00,020 मिलियन किफायती घर बनाने के लक्ष्य के साथ किफायती आवास प्रदान किया जाएगा। इस के दो घटक: प्रधानमंत्री शहरी गरीबों के लिए आवास योजना शहरी पीएमएवाई और ग्रामीण भूख के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना।

Pradhan Mantri Awas Yojana अन्य घरों में शौचालय, सौभाग्य योजना बिजली कनेक्शन ,उज्ज्वला योजना एलपीजी कनेक्शन पीने के पानी तक पहुँच और जन धन बैंकिंग सुविधाएं आदि सुनिश्चित करने के लिए योजनाएं  28 दिसंबर 2019 तक कुल 1.12,00,00,000 की मांग के मुकाबले कुल 1,00,00,000 घरों को मंजूरी दी गई है।

ग्रामीण और शहरी गरीबों की आवाज की जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत सरकार के निरंतर प्रयास के एक भाग के रूप में प्रधानमंत्री आवास योजना जून 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किफायती आवास प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू की गई थी।

अवश्य पढ़े, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

Pradhan Mantri Awas Yojana 2023 Highlights

योजना का नामप्रधानमंत्री आवास योजना
इनके द्वारा शुरू की गयीपीएम नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
लॉन्च की तारीक22 जून 2015
लाभार्थीदेश के गरीब लोग
उद्देश्यपक्का घर प्रदान करना
PMAY चरण 1 की अवधिअप्रैल 2015 से मार्च 2017 तक
PMAY चरण 2 अवधिअप्रैल 2017 से मार्च 2019 तक
पीएम आवास योजना चरण 3 की अवधिअप्रैल 2019 से मार्च 2022 तक
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
किससे लिएग्रामीण और शहरी
श्रेणीकेंद्र सरकार स्कीम
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://pmaymis.gov.in

प्रधानमंत्री आवास योजना की महत्वपूर्ण बातें

1957, में प्रधानमंत्री नेहरू की दूसरी पंचवर्षीय योजना के दायरे में ग्राम आवास कार्यक्रम वीएचपी की शुरुआत की गई थी। जिसमें व्यक्तियों और सहकारी समितियों को प्रति यूनिट 5000 तक का ऋण प्रदान किया गया था, Pradhan Mantri Awas Yojana में पंचवर्षीय योजना (1974-1979) के अंत तक केवल 67,000 घरों का निर्माण किया जा सका। चौथी हाउस साइड कम कंस्ट्रक्शन असिस्टेंट स्कीम एचसीएस नामक एक अन्य योजना को भी 1974 से 1975.8 तक राज्य क्षेत्र में स्थानांतरित कर दिया गया था।

  • केन्द्र सरकार का लक्ष्य वर्ष 2023 तक ग्रामीण और शहरी शेत्र में 4 करोड़ पक्के मकानो का निमार्ण करना है।
  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग तथा निम्न आय वर्गो के लिये योजना के अन्तर्गत 6 लाख तक का ऋण 20 साल की अवधि के लिये उपलब्ध कराया जायेगा तथा योजना के अन्तर्गत 6.50 प्रतिशत यानी 2.67 लाख की सब्सिडी ऋण भी उपलब्ध कराया जाएगा।
  • एमआईजी 1 तथा एमआईजी 2 ग्रुप के व्यक्तियो को 20 साल के लोन पर 4 फीसदी तथा 3 फीसदी की ब्याज सब्सिडी विशेष नियम के अनुसार प्रदान करेगी।
  • EWS and LIG ग्रुप को अधिकतम 60 sqm कारपेट एरिया का घर खरीदने पर यह सब्सिडी उपलब्ध करायेगी।
  • और EWS and LIG 2 आय ग्रुप को अधिकतम 160 sqm तथा 200 sqm कारपेट एरिया का घर खरीदने पर Pradhan Mantri Awas Yojana सब्सिडी उपलब्ध कराया जाएगा।

इसे भी पढ़े, समग्र शिक्षा अभियान 2.0

प्रधानमंत्री आवास योजना नई घोषणा- PMAY

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत केंद्र सरकार से 2,00,000 करोड़ की वित्तीय सहायता के माध्यम से वर्ष 2023 तक शहरी क्षेत्रों में आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों और निम्न आय समूह सहित शहरी गरीबों के लिए 2,00,00,000 घर बनाने का प्रस्ताव है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सरकार द्वारा घर खरीदने के लिए होमलोन के ब्याज पर 2.67 लाख की सब्सिडी दी जाती है। उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत किफायती दरों पर मकान उपलब्ध कराएगी।

Pradhan Mantri Awas Yojana के तहत उत्तर प्रदेश में लगभग 3,516 घरों के लिए आवेदन मांगे गए हैं। जिसकी बुकिंग 1 सितंबर 2020 से शुरू हो रही है। ये उत्तर प्रदेश राज्य के 19 शहरों में स्थित है।

गरीब परिवार के लोग इन घरों को महज 3.5 लाख में खरीद पाएंगे। वे सभी लोग जिनकी वार्षिक आय 3,00,000 से कम है, इन मकानों के लिए आवेदन करने के पात्र हैं। उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद ने पहले मकान का पूर्ण भुगतान समय पांच वर्ष तक रखा था, जिसे अब तीन वर्ष कर दिया गया है।

प्रधानमंत्री आवास योजना की बजट

सरकार ने अप्रैल 2016 तक 10,050 करोड़ की केंद्रीय सहायता प्रतिबद्धता सहित शहरी गरीबों के लिए 6,83,724 घरों के निर्माण के लिए 43,922 करोड़ के निवेश को मंजूरी दी है।

बजट की इस बढ़ोतरी से 12 लाख नए घर तथा 18 लाख घरों का निर्माण पूरा किया जाएगा। बजट में वृद्धि के कारण 78 लाक नई जॉब उत्पन्न होंगी तथा 25 लाख मैट्रिक टन स्टील तथा 131 लाख मैट्रिक टन सीमेंट का इस्तेमाल होगा। जिससे कि बेरोजगारी की दर में भी गिरावट आएगी तथा उत्पादन और बिक्री में भी सुधार होगा। इस बजट को शहर और ग्रामीण इलाकों को बेहतर करने के उद्देश्य पर पारित किया गया है.

प्रधानमंत्री आवास योजना की लाभ

  • सभी लाभार्थी को 20 वर्ष की अवधि के लिए आवास ऋण पर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत, सब्सिडी प्याज पर 6.50% प्रतिवर्ष प्रदान की जाती है।
  • निशक्तजनों एवं वरीष्ठ नागरिको को भूतल आवंटन में वरीयता दी जाएगी।
  • निर्माण के लिए सतत और पर्यावरण के अनुकूल प्रोद्योगिकियों का उपयोग किया जाएगा।
  • Pradhan Mantri Awas Yojana में देश के संपूर्ण शहरी क्षेत्रों को शामिल किया गया है ,जिसमें 4041 सांविधिक कस्बों को शामिल किया गया है। जिसमें प्रथम श्रेणी के 500 शहरों को पहली प्राथमिकता दी गई है। ये तीन चरणों में किया जाएगा
  • प्रधानमंत्री आवास योजना का क्रेडिट लिंक सब्सिडी पहलू भारत में सभी वैधानिक शहरों में प्रारंभिक चरण से ही लागू हो जाता है।

Pradhan Mantri Awas Yojana की विशेषताएँ

प्रधानमंत्री आवास योजना की विशेषताएं यह है कि सरकार लाभार्थियों द्वारा लिए गए आवास ऋण पर 6.5% (EWS and LOG),MIG-1 के लिए 4% और MIG-2 के लिए 3% की ब्याज सब्सिडी प्रदान करेगी। Pradhan Mantri Awas Yojana के तहत घरों का निर्माण एक ऐसी तकनीक के माध्यम से किया जाएगा जो पर्यावरण के अनुकूल हो, जबकि पीएमएवाई के तहत किसी भी आवास योजना में भूतल आवंटित करते समय, विकलांग और वृद्ध व्यक्तियों को वरीयता दी जाएगी।

अवश्य पढ़े, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना

प्रधानमंत्री आवास योजना के प्रकार

पीएमएवाई योजना के दो उपखंड है जो उस क्षेत्र के आधार पर विभाजित है जिसपर वे ध्यान केंद्रित करते हैं। इस योजना के अंतगर्त ग्रामीण, शहरी और निजी योगदानकर्ता को शामिल किया जाता है. क्योंकि, Pradhan Mantri Awas Yojana के इन निकायों पर विशेष ध्यान केन्द्रित करती है. इसे निम्न प्रकार से परिभाषित किया जा सकता है.

Pradhan Mantri Awas Yojana ग्रामीण

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण वो पहले इंदिरा आवास योजना के रूप में जाना जाता था और 2016 में इसे प्रधानमंत्री आवास योजना नाम दिया गया था। इस योजना का उद्देश्य किफायती और सुलभ आवास इकाइयों के प्रावधान के लिए है। भारत के ग्रामीण क्षेत्रों (चंडीगढ़ और दिल्ली को छोड़कर ) में पात्र लाभार्थियों के लिए।इस योजना के तहत भारत सरकार और संबंधित राज्य सरकारे मैदानी क्षेत्रों के लिए 60:40 और उत्तर पूर्वी और पहाड़ी क्षेत्रों के लिए 90:10 के अनुपात में आवास इकाइयों के विकास की लागत साझा करती है।

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी

Pradhan Mantri Awas Yojana, शहरी जैसे की नाम से पता चलता है, भारत में शहरी क्षेत्रों की ओर केंद्रित है। वर्तमान में,4, 331 कस्बों और शहरों को इस योजना के तहत सूचीबद्ध किया गया है। या योजना तीन अलग अलग चरणों के तहत कार्य करने के लिए तैयार है:-

Phase 1:- चरण एक के तहत, सरकार ने अप्रैल 2015 से मार्च 2017 तक देशभर के विभिन्न राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के 100 शहरों को कवर करने का लक्ष्य रखा है।

एवं Phase 2:- चरण दो के ,तहत सरकार ने अप्रैल 2017 से मार्च 2019 तक  देशभर के विभिन्न राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के 200 और शहरों को कवर करने का लक्ष्य रखा है।

Phase 3:- चरण तीन के तहत, सरकार ने चरण एक और चरण दो में छोड़े गए शहरों को कवर करने और मार्च 2022 के अंत तक लक्ष्य प्राप्त करने का लक्ष्य रखा है।

अवश्य पढ़े, प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना

निजी योगदानकर्ता (Private contributors)

IIFL होम लोन लाभार्थियों को देशभर में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी का लाभ उठाने में मदद कर रहा है। 17 अगस्त 2017 तक, कंपनी ने 4187 लाभार्थियों को सरकारी सब्सिडी प्राप्त करने में मदद की है। 1

201 ICICI बैंक इस योजना के लिए पात्र लोगों को रियायती होम लोन दे रहा है। AU हाउसिंग फाइनैंस लिमिटेड भी इस योजना के तहत सब्सिडी आधारित फीडिंग कर रही है। होम फर्स्ट फाइनांस कंपनी भारत के विभिन्न क्षेत्रों में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडरी का लाभ उठाने के लिए लाभार्थियों को सहायता प्रदान करती है।

राजीव आवास योजना एक भारत सरकार का कार्यक्रम था जो झोपड़ी वासियों को उपयुक्त आवास प्राप्त करने और उन प्रक्रियाओं को संबोधित करने में मदद करने का प्रयास करता है जिनके द्वारा झोपड़ी, बस्तियों का निर्माण और पुनरुत्पादन किया जाता है। या भारत सरकार के आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय द्वारा पेश किया गया था।

सरकार ने भारत की 12बी  पंचवर्षीय योजना के दौरान इसके कार्यान्वयन के लिए 32,230 करोड़ निर्धारित किया। राजीव आवास योजना के तहत एक मिलियन आवृत्तियों को कवर करने का प्रस्ताव किया गया था।

राज्यों द्वारा केंद्र के परामर्श से जिला मुख्यालय धार्मिक विरासत और पर्यटन महत्व के शहरों को प्राथमिकता देते हुए शहर के विकास की गति, शहर के भीतर झुग्गी बस्तियों और प्रमुखता के मानदंड को ध्यान में रखते हुए साइट चयन किया जाना था।

अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अल्पसंख्यक आबादी और समाज के अन्य कमजोर और कमजोर वर्ग 231 एसबीआइ ने अब 75,00,000 से ऊपर के होम लोन की ब्याज दर में 10 आधार अंकों की कटौती की है। 15 जून 2017 से इसके लिए दर 8.55-8.6% होगी।

प्रधानमंत्री आवास योजना की पात्रता

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए पात्रता मापदंड कुछ इस तरह है:-

  • Pradhan Mantri Awas Yojana लाभार्थी की अधिकतम आयु 70 वर्ष
  • EWS (Economic weaker section) आर्थिक कमजोर वर्ग के परिवार की आय सीमा प्रतिवर्ष 3,00,000 है और एलआईजी(निम्न आय समूह) के लिए पारिवारिक आय सीमा 76,00,000 प्रति वर्ष है
  • लाभार्थी की अपनी आवासीय इकाई नहीं होनी चाहिए
  • ऋण आवेदक को पीएमएवाई योजना के तहत घर खरीदने के लिए केंद्र/राज्य सरकार की कोई सब्सिडी लाभ नहीं लेना चाहिए
  • वर्तमान में ऋण आवेदक के पास अपने नाम के तहत और परिवार के किसी भी सदस्य के साथ कोई संपत्ति नहीं होनी चाहिए
  • गृह नवीनीकरण या सुधार ऋण, स्व निर्माण ऋण,केवल ईडब्ल्यूएस और एलआईजी श्रेणियों के लिए आवंटित किए जाएंगे।
  • EWS :- Economic weaker section: वेसे आवेदनकर्ता जिनका सालाना इनकम 0 लाख रुपये से 3 लाख रुपये के बीच हो।
  • LIG :- Lower Income Group: ऐसे आवेदन कर्ता जिनका सालाना इनकम 3 लाख रुपये से 6 लाख रुपये तक हो।
  • MIG 1 – Middle Income Group 1: ऐसे आवेदन कर्ता जिनका सालाना इनकम 6 लाख रुपये से 12 लाख रुपये के बीच हो।
  • MIG 2 – Middle Income Group 2: ऐसे आवेदन कर्ता जिनका सालाना इनकम 12 लाख रुपये से 18 लाख रुपये के बीच हो।

Pradhan Mantri Awas Yojana के तहत दिए गए मकानों का स्वामित्व महिलाओं या पुरुषों के साथ संयुक्त रूप से होगा।

पीएम आवास योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पत्र व्यवहार का पता
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक खाते की पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

पीएम आवास योजना के तहत लाभार्थियों की पहचान और चयन

  • प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी योजना मुख्य रूप से शहरी गरीबों की आवास आवश्यकताओं को पूरा करती है। ये योजना अपर्याप्त बुनियादी ढांचे, खराब स्वच्छता और पीने की सुविधाओं के साथ झुग्गी झोपड़ियों के सीमित क्षेत्रों में रहने वाले झुग्गी झोपड़ियों के निवासियों की  आवस आवश्यकता को भी पूरा करती है।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना में मुख्य रूप से मध्यम आय समूह(MIG), निम्न आय वर्ग (LIG) और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) शामिल हैं।
  • जबकि ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लाभार्थी योजना के तहत पूर्ण सहायता के लिए पात्र हैं, एलआईजी और एलआईजी श्रेणियों के लाभार्थी केवल तीन निभाई के तहत क्रेडिट लिंक सब्सिडी योजना (सीएलएसएस) के लिए पात्र हैं।
  • योजना के तहत एलआईजी  या ईडब्ल्यूएस लाभार्थी के रूप में पहचाने जाने के लिए आवेदक को प्राधिकरण को आए प्रमाण के रूप में एक हलफनामा प्रस्तुत करना आवश्यक है।

इसे भी पढ़े, प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना

प्रधानमंत्री आवास योजना में कवर किए गए राज्य और शहर

25 अप्रैल 2016 तक सरकार ने 26 राज्यों में 2508 शहरों और कस्बों की पहचान शहरी गरीबों के लिए घरों का निर्माण शुरू करने के लिए की है। केंद्रीय सहायता से 11,169 करोड़ के निवेश से शहरी गरीबों के लाभ के लिए 1,86,777 अतिरिक्त घरों का निर्माण मार्च 2000 22.19 तक लक्ष्य 6,00,00,000 घरों में से सम्मिलित RAY  भाई योजना सहित 39,25,240 घरों को स्वीकृत संचयी कूल घरों को लेकर फरवरी 2018 में 2797 करोड़ में से स्वीकृत किया गया था।

  1. छत्तीसगढ़- 1000 शहर/कस्बे
  2.  जम्मू और कश्मीर – 19 शहर/कस्बे
  3. झारखंड – 15 शहर/कस्बे
  4. मध्यप्रदेश – 74 शहर/कस्बे
  5.  हरियाणा, राजस्थान – 38 शहरों और कस्बों में 53,290 घर 4,322 करोड़ का निवेश
  6. तमिल नाडु – 2,314 करोड़ के निवेश के साथ 65 शहरों और कस्बों में 40,623 घर
  7.  कर्नाटक – 95 शहरों में 1,461 करोड़ के निवेश के साथ 32,656 घर
  8.  गुजरात – 946 करोड़ के निवेश के साथ 45 शहरों और कस्बों में 15,584 घर
  9.  महाराष्ट्र – 13 शहरों और कस्बों में 12,123 घर 868 करोड़ के निवेश के साथ।

प्रधानमंत्री आवास योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए निचे दिए गए steps को फॉलो करे:

  • आवेदन करने के लिए सबसे पहले आवास योजना के अधिकारिक वेबसाइट pmaymis.gov.in पर जाएँ।
  • होम पेज खुलने के बाद सबसे पहले “citizen assessment” के विकल्प पर क्लिक करे।
  • उसके बाद आवेदनकर्ता को Slum Dwellers और Benefits Under 3 Components का विकल्प दिखाई देगा.
  • इसमें से एक किसी एक पर अपने पात्रता के अनुसार क्लिक करे.
  • इसके बाद निम्न प्रकार का पेज open होगा.
PMAY Yojana
  • इस फॉर्म में 12 डिजिट का आधार नंबर दर्ज करे व आधार कार्ड के अनुसार नाम को अंकित करें इसके पश्चात “चेक” विकल्प पर क्लिक करे।
  • चेक पर क्लिक करने के बाद PMAY आवेदन फॉर्म सामने आएगा।
PMAY Form

ऑनलाइन आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी जैसे:

  • परिवार के मुखिया का नाम
  • राज्य का नाम
  • जिले का नाम
  • आयु
  • वर्तमान पता
  • मकान संख्या
  • मोबाइल नंबर
  • जाति
  • आधार नंबर
  • शहर और गांव का नाम आदि को भरे।
  • फॉर्म भरने और चेक करने के बाद आवेदन को सबमिट करे।
  • इस प्रकार आप प्रधान मंत्री आवास योजना में सफलतापूर्वक आवेदन कर पाएँगे।

प्रधानमंत्री आवास योजना आवेदन स्थिति कैसे चेक करे?

पीएम आवास योजना के अंतर्गत अपने आवेदन की स्थिति चेक करने के लिए निम्न steps को फॉलो करे:

  • सर्वप्रथम PM आवास योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ।
  • होम पेज पर Citizens assessment का ऑप्शन दिखाई देगा, वहाँ से “Track Your Assessment Status” के विकल्प पर क्लिक करे।
  • क्लिक करने के बाद इस तरह का पेज दिखाई देगा।
PMAY Track Your Assessment
  • इन दोनों विकल्पों में से By Assessment ID के विकल्प पर क्लिक करे।
  • इस विकल्प पर क्लिक करने के बाद एक नया पेज open होगा।
Tack Assessment Form
  • इस पेज पर Assessment ID और मोबाइल नंबर को दर्ज करे और सबमिट बटन पर क्लिक करे।
  • इसके बाद एक नया पेज इस तरह दिखाई देखा।
PradhanMantri Awas Yojana Housing
  • फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे राज्य का नाम, जिला का नाम, शहर का नाम, अपना नाम, पिता का नाम, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करे।
  • इसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक करे।
  • सबमिट बटन पर क्लिक करने के साथ प्रधानमंत्री आवास योजना आवेदन की स्थिति दिखाई देगा।

PMAY सब्सिडी कैलकुलेटर कैसे देखे?

  • सबसे पहले Pradhan Mantri Awas Yojana की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ।
  • ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद Subsidy Calculator के विकल्प पर क्लिक करे।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद इस तरह का पेज open होगा।
Pradhanmantri Awas Subsidy Calculator
  • यहाँ अपनी Annual Family Income , Loan Amount , Tenure (Months ) आदि दर्ज करे।
  • इसके बाद आपकी सब्सिडी कैलकुलेट होकर स्क्रीम पर आ जाएगा।

प्रधानमंत्री आवास योजना प्रोग्रेस देखने की प्रक्रिया

Helpline Number

Pradhan Mantri Awas Yojana से सम्बंधित सभी आवश्यक जानकारी यहाँ विस्तार से प्रदान किया गया है. उम्मीद है आपको भी पसंद आया होगा. यदि अभी कोई तथ्य समझ से बाहर हो, तो निचे दिए गए नंबर पर कॉल कर अपने समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते है.

  • +011-23060484
  • +011-23063285
  • +011-23061827
  • +011-23063620
  • +011-23063567

इसे भी पढ़े,

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजनाप्रधानमंत्री सौभाग्य योजना
स्त्री स्वाभिमान योजनासुकन्या समृद्धि योजना

Leave a Comment