यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन

सरकार द्वारा महिलाओं के लिए अधिकतम लाभ और सशक्तीकरण प्रदान करने के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जाती है। उत्तर प्रदेश सरकार देश के निराश्रित लोगों के कल्याण के लिए भी कई योजनाएं संचालित करती हैं जो अपनी कम आय के कारण खर्च का प्रावधान करने में असमर्थ हैं।

वर्तमान में, श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार बिना किसी पक्षपात के समाज के हर वर्ग को लाभ प्रदान करने का प्रयास कर रही है। तो ऐसी बहुत सी योजनाएं हैं जो राज्य सरकार द्वारा भी शुरू की गई है ताकि सभी को लाभान्वित किया जा सके, और यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना इनमें से एक है।

यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना निश्चित रूप से सरकार की ओर से उतनी ही महान दीक्षा है क्योंकि यह महिलाओं को सशक्त बनाती है और उन्हें समाज में आत्मनिर्भर बनाती है।

UP Mahila Samarthya Yojana 2023

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में महिलाओं के लिए एक और पहल की शुरुआत की है। हालांकि, इसकी आधिकारिक घोषणा यूपी के वित्त मंत्री श्री सुरेश खन्ना ने 2023 के वित्तीय वर्ष के बजट सत्र में की थी। इस योजना का नाम यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना है, जिसका उद्देश्य महिलाओं को रोजगार के अवसर पैदा करके उन्हें आत्मनिर्भर बनाना है।

इस योजना के तहत सरकार द्वारा महिलाओं को अपने उत्पाद बेचने के लिए एक बाजार भी उपलब्ध कराया जाएगा।इस महिला सामर्थ्‍य योजना के लिए सरकार ने 200 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया है।

UP Mahila Samarthya Yojana 2023 का क्रियान्वयन दो स्तरीय समिति के माध्यम से किया जाएगा। जिला स्तर पर कमेटी और राज्य स्तर पर कमेटी गठित की जाएगी, और राज्य में करीब 90 लाख सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग स्थापित होने हैं।

यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना की विशेषताएँ

उत्तर प्रदेश राज्य की महिला समर्थ योजना की पूरी जानकारी:

  • यूपी के सीएम श्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में राज्य में महिला सामर्थ्‍य योजना शुरू की है।
  • इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में महिलाओं को सशक्त बनाना है।
  • इस योजना के तहत सरकार राज्य में महिला आबादी के लिए रोजगार सृजित करेगी।
  • यूपी महिला अधिकारिता योजना को लागू करने के लिए 1000 करोड़ रुपए पहले ही दिए जा चूके हैं।
  • योजना के पहले चरण में सरकार 200 विकास खंड स्थापित करेगी।
  • स्थापित केंद्रों का लक्ष्य सामान्य उत्पादन और प्रसंस्करण, तकनीकी अनुसंधान, विकास, पैकेजिंग, लेबलिंग, बार कोडिंग सुविधाओं आदि को प्रशिक्षित करना होगा।
  • इन केंद्रों के रखरखाव पर होने वाले खर्च का 90% तक सरकार वहन करेगी।

इसे भी पढ़े, प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना

UP Mahila Samarthya Yojana 2023 Highlights

योजना का नामयूपी महिला सामर्थ्य योजना
राज्यउत्तर प्रदेश सरकार
किसने लॉन्च कियायोगी आदित्य नाथ जी द्वारा
बजट200 करोड़
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के नागरिक
उद्देश्यप्रदेश की महिलाओं को रोजगार के लिए प्रोत्साहित करना
वर्ष2023
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी

अवश्य पढ़े, 

यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना की आवश्यकता

  • वर्तमान में, राज्य में 90,00,000 से अधिक सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम है।
  • इनमें से लगभग 80 लाख गृह और कुटीर उद्योग के तहत संचालित सूक्ष्म इकाइयों में स्थापित है।
  • हालांकि अब सरकार राज्य में महिलाओं द्वारा चलाए जा रहे उद्योगों को प्राथमिकता देगी।
  • सरकार द्वारा सुविधाएं प्रदान करके यूपी महिला सामर्थ्य योजना का कार्यान्वयन किया जाएगा।
  • सुविधा केंद्रों पर पैकेजिंग लेबलिंग बारकोडिंग आदि जैसी सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।
  • इस योजना के कार्यान्वयन के लिए  सरकार द्वारा 100 करोड़ के बजट का प्रावधान किया गया है।
  • केंद्रों में महिलाओं को विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण की व्यवस्था होगी, जिससे उन्हें अपने व्यवसाय को और विकसित करने में मदद मिलेगी।

यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना का कार्यान्वयन

उत्तर प्रदेश महिला समर्थ योजना का कार्यान्वयन कुछ इस प्रकार है:

  • मुख्यमंत्री सामर्थ्‍य योजना राज्य के सभी 800 प्रखंडों में सामूहिक दृष्टिकोण के आधार पर संचालित की जाएगी।
  • इसके लिए सरकार गृह और कुटीर उद्योगों की समस्याओं की पहचान करेगी।
  • केंद्रों पर प्रशिक्षण, सामान्य उत्पादन और प्रसंस्करण, तकनीकी अनुसंधान और विकास, पैकेजिंग, लेवलिंग, बारकोडिंग सुविधा जैसी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी।
  • प्रत्येक सुविधा केंद्र का 90% प्रतिशत खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
  • UP Mahila Samarthya Yojana जागरूकता, परामर्श कार्यक्रम, एक्स्पोज़र, सेमिनार, कार्यशाला और प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।
  • महिलाओं के लिए रोजगार को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य स्तरीय संचालन समिति के साथ जिला स्तरीय कमेटी को काम करना होगा।

यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना के लाभ

  • उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्‍य योजना के माध्यम से महिलाओं को रोजगार के लिए प्रेरित किया जाएगा।
  • महिलाओं के जीवन को समृद्ध बनाने और उनके कल्याण के लिए यूपी सरकार ने महिला सामर्थ्‍य योजना शुरू की है।
  • इस उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्‍य योजना के तहत सरकार माल या उत्पादों की बिक्री के लिए एक बाजार भी उपलब्ध कराएगी।
  • इस महिला सामर्थ्‍य योजना के माध्यम से सरकार द्वारा महिलाओं के लिए घरेलू, सूक्ष्म और लघु उद्योग शुरू किए जाएंगे जिससे महिलाओं के जीवन स्तर में सुधार होगा।
  • जिला स्तरीय एवं राज्य स्तरीय समितियों के संयुक्त सहयोग से इस योजना को सफल बनाने का प्रयास किया जाएगा।
  • इस महिला सामर्थ्‍य योजना के क्रियान्वयन के लिए सरकार द्वारा दो समितियों का गठन किया गया है।
  • UP Mahila Samarthya Yojana के क्रियान्वयन के लिए सरकार द्वारा 100 करोड़ का बजट प्रावधान किया गया है।
  • इस योजना के तहत महिलाओं द्वारा चलाए जा रहे उद्यमों का उत्थान होगा।

अवश्य पढ़े, उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना

यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना के लिए पात्रता मानदंड

उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्‍य योजना का लाभ लेने के लिए यह आवश्यक है कि महिला उत्तर प्रदेश की स्थायी निवासी हो। और महिला के पास उसका आधार कार्ड होना चाहिए। उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्‍य योजना के लिए महिला का राशन कार्ड बनवाना चाहिए।

  • आवेदक को उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना आवश्यक है।
  •  महिला आवेदक के पास उसका आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  •  लाभार्थी के पास उसका राशन कार्ड होना आवश्यक है।

यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड ( Aadhaar card)
  • मतदाता पहचान पत्र ( Voter ID)
  • राशन कार्ड ( Ration card)
  • पता प्रमाण ( Address proof)
  • बैंक खाता विवरण ( Bank account statement)
  • मोबाइल नंबर ( Mobile number)
  • आय प्रमाणपत्र ( Income certificate)
  • पासपोर्ट आकार फोटो ( Passport size photo)

यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना ऑन लाइन पंजीकरण

यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना से, सरकार उद्यमी महिलाओं को अत्यधिक लाभ प्रदान करने जा रही है ताकि उन्हें स्वयं व्यवसाय करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके।

जिन महिलाओं ने पहले ही अपना व्यवसाय स्थापित कर लिया है, उनके लिए सरकार उनके उत्पादों को बढ़ावा देगी और उनकी उत्पादकता बढ़ाने में भी मदद करेगी। तो यह योजना महिलाओं के जीवन स्तर को ऊपर उठाने में एक प्रमुख भूमिका निभाने जा रही है।

पात्र महिलाएं अभी से अपने सभी दस्तावेज तैयार कर लें ताकि उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्‍य योजना के आते ही वे विशेष योजना के लिए आवेदन कर सकें। इच्छुक महिलाओं को एक निश्चित प्रक्रिया का पालन करते हुए इस योजना के लिए आवेदन करना होगा। महिला सामर्थ्‍य योजना के लिए सरकार जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला स्तरीय कमेटी का गठन करेगी।

यह समिति उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्‍य योजना के लिए महिलाओं में जागरूकता फैलाएगी ताकि वे इस योजना के लिए प्रेरित हो सकें और इसके लिए आवेदन कर सकें। महिला सामर्थ्‍य योजना के क्रियान्वयन के प्रथम चरण में 200 विकासखण्डों में महिला सामान्य सुविधा केंद्र भी खोला जाएगा।

अवश्य पढ़े, 

यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना के लिए दो स्तरीय समितियों का गठन

यूपी राज्य द्वारा शुरू की गई यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना की दो स्तरीय समितियों का गठन कुछ इस प्रकार है:-

  • राज्य सरकार इस योजना को लागू करने के लिए राज्य और जिला स्तर पर दो स्तरीय समिति बनाएगी।
  • साथ ही गठित जिला समितियों की अध्यक्षता जिलाधिकारी करेंगे और राज्य में महिलाओं के रोजगार को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य स्तरीय संचालन समिति के समन्वय से कार्य करेंगे।
  • समितियां प्रत्येक क्षेत्र में योग्य महिला समूहों और संगठनों को परिभाषित और मार्गदर्शन करेगी।
  • उद्यमियों/व्यवसायियों को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार जन जागरूकता कार्यक्रम, सलाहकार कार्यक्रम, सेमिनार, कार्यशालाएं और प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करेगी।

KEY POINTS

  • UP Mahila Samarthya Yojana की आधिकारिक तौर पर राज्य के वित्त मंत्री श्री सुरेश खन्ना द्वारा यूपी राज्य सरकार के बजट सत्र मैं घोषणा की गई है।
  • यूपी महिला सामर्थ्‍य योजना का मुख्य उद्देश्य कुटीर और अन्य उद्योगों में रोजगार के अवसर पैदा कर महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना है।
  • महिला सामर्थ्‍य योजना के तहत स्वीकृत कुल बजट 1000 करोड़ रुपए है।

इसे भी पढ़े,

यूपी भू नक्शा कैसे चेक करेराष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना
यूपी भाग्यलक्ष्मी योजनायूपी किसान कल्याण मिशन

Leave a Comment