विद्या संबल योजना राजस्थान 2023: चयन एवं आवेदन

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि राज्य लंबे समय से शिक्षकों की कमी से जूझ रहा है। इसका कारण शिक्षकों की समय पर नियुक्ति नहीं होना है। इसलिए सभी शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों और संकाय सदस्यों की भारी कमी है। पूरे राजस्थान में शिक्षा के क्षेत्र में कुल 40,000 पद रिक्त हैं। आंकड़ों के मुताबिक नए कॉलेज में 3000 पद खाली है। इस योजना से पहले महाविद्यालय और विद्यालय 20 प्रतिशत क्षमता के साथ कार्य करते हैं।

राजस्थान सरकार ने हाल ही में पूरे राज्य में विद्या संबल योजना शुरू की है। इस योजना के तहत शिक्षा क्षेत्र से संबंधित विभिन्न विभाग जैसे स्कूल, कॉलेज एवं विश्वविद्यालय योजना के अंतर्गत आते हैं।

मंगलवार को विभाग की ओर से नोटिफिकेशन जारी किया गया जिसमें योजना के तहत तीसरी कक्षा के शिक्षकों को प्रतिदिन ₹300 और विद्या संबल योजना के तहत नियुक्त किए जाने वाले शिक्षकों को अधिकतम ₹21,000 मासिक मिलेंगे।

Table of Contents

Vidya Sambal Yojana Rajasthan 2023

विद्या संबल योजना राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गयी एक अत्यंत लाभकारी योजना है जिसकी मदद से विश्वविद्यालय में शिक्षकों की आपूर्ति को कम करना है। Vidya Sambal Yojana Rajasthan का मूल्य उद्देश्य राजस्थान के स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालय में शिक्षकों के रिक्त पदों की संख्या को कम करना है जिससे छात्रों का नुकसान न हो।

विद्या संबल योजना के तहत सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता विभाग के अंतर्गत संचालित विद्यालय स्तर के छात्रावासों में कक्षा नौ से 12 तक पढ़ने वाले आवासीय छात्रों को गणित, अंग्रेजी और विज्ञान जैसे कठिन विषयों के निशुल्क कोचिंग प्रदान की जाएगी।

राजस्थान विद्या संबल योजना के तहत वित्तीय महान शिक्षकों को ₹350 प्रतिदिन का भत्ता और अधिकतम ₹25,000 मासिक मिलेंगे। इसके अलावा प्रथम श्रेणी के शिक्षकों को ₹400 प्रति दिन और ₹30,000 मासिक भुगतान मिलेगा जो इस योजना के तहत बनाए जाते हैं। साथ ही लैबोरेट्री हेल्पर और टेक्नीशियन को भी सरकार द्वारा निर्धारित ₹300 प्रतिदिन और अधिकतम ₹21,000 मासिक मिलेंगे।

राजस्थान विद्या संबल योजना की महत्वपूर्ण बात है

नई शुरू की गई विद्या संबल योजना में, अतिथि शिक्षकों और संकाय के सभी रिक्त पदों की गणना प्रत्येक शैक्षणिक वर्ष की शुरुआत से पहले की जाएगी। इन रिक्तियों के आधार पर नए गेस्ट फैकल्टी की नियुक्ति की जाएगी।

मूल्य उद्देश राजस्थान के स्कूलों,  कॉलेजों और विश्वविद्यालय में शिक्षकों के रिक्त पदों की संख्या को कम करना है। इस योजना की मदद से नए अतिथि शिक्षकों की भर्ती के साथ राज्य में शिक्षा का स्तर ऊंचा करना है।

इसे भी पढ़े, राजस्थान स्कॉलरशिप योजना

Vidya Sambal Yojana Rajasthan Highlights

नामविद्या संबल योजना राजस्थान
आरम्भ की गईराजस्थान सरकार द्वारा
लाभार्थीराज्य के लोग
लाभशिक्षा के क्षेत्र में सुधार
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यराज्य के नागरिको को सहायता
श्रेणीराजस्थान सरकारी योजना

राजस्थान विद्या संबल योजना के मुख्य विशेषताएं

श्री गहलोत ने राज्य के बजट 2021- 22 में योजना के क्रियान्वयन की घोषणा की थी। इसके लिए सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग ने अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के छात्रावासों में रहने वाले छात्रों के लिए कोचिंग की सुविधा को मंजूरी दे दी है।

  • प्रत्येक संस्थान में सत्र शुरू होने पर शिक्षकों के रिक्त पदों की गणना होगी उसके बाद रिक्त पदों पर भर्ती की जाएगी।
  • इसके अलावा जिला कलेक्टर या चयनित प्राधिकारी शिक्षकों की भर्ती करेंगे।
  • जब शैक्षणिक वर्ष शुरू होगा तब समिति जिला मुख्यालय पर सूचना देगी और फिर आवेदन आमंत्रित किए जाएंगे। अतिथि शिक्षकों का चयन उनकी योग्यता, अंकों और उनके अनुभव के आधार पर किया जाएगा।
  • संबंधित विभाग के लिए जिला स्तर पर योग्य उम्मीदवारों के लिए एक पैनल तैयार किया जाता है।
  •  इस पैनल में तीन उम्मीदवार होते हैं जो रिक्ति के प्रत्येक  पद के लिए तैयार होते हैं।इस पैनल का चयन ब्लॉकवार,कक्षा अनुसार किया जाता है।
  • अतिथि शिक्षकों को आवश्यक दस्तावेजों के साथ एक हलफनामा जमा करना होगा।
  • शिक्षकों के काम की निगरानी के बाद और उनके प्रदर्शन की निगरानी के लिए भत्ता उसी के अनुसार दिया जाएगा।
  • जब अतिथि शिक्षकों के सभी रिक्त पद भरे जाएंगे तो भर्ती प्रक्रिया स्वत: बंद हो जाएगी।
  • छात्रावासों में शिक्षक के पद तैयार नहीं होने के कारण छात्रावासों में संबंधित विषय की कोचिंग के लिए रिक्तियों की बाध्यता नहीं है।
  • कोचिंग के लिए संस्थान के मुखिया बजट प्रावधान के अनुसार सीधे अपने स्तर पर भुगतान कर सकते हैं।

राजस्थान विद्या संबल योजना का उद्देश्य

  • राजस्थान विद्या संबल योजना राजस्थान राज्य सरकार द्वारा चलायी गयी एक अत्यंत लाभदायक और कल्याणकारी योजना है।
  • विद्या संबल योजना शुरू करने का मुख्य उद्देश्य स्कूलों, कॉलेजों और शिक्षण संस्थान में अतिथि शिक्षकों को रोजगार प्रदान करना है।
  • राजस्थान विद्या संबल योजना की मदद से नए अतिथि शिक्षकों की भर्ती के साथ, सरकार राज्य में शिक्षा के स्तर को ऊपर उठाना चाहती है।

राजस्थान विद्या संबल योजना का लाभ

  • अतिथि शिक्षकों और संकाय के सभी रिक्त पदों की गणना प्रत्येक शैक्षणिक वर्ष की शुरुआत से पहले की जाएगी।
  • स्कूलों में, ग्रेड ए शिक्षा का अधिकतम ₹30,000 प्राप्त कर सकते हैं। ग्रेड सी और संकर शिक्षकों  ₹2100 मानदेय होंगे।
  • प्रस्ताव के अनुसार एक शैक्षणिक सत्र में अधिकतम तीन माह की अवधि के लिए सरकारी छात्रावासों में कक्षा नौ से 12 तक के छात्रों को गणित, अंग्रेजी और विज्ञान विषय की कोचिंग उपलब्ध कराई जाएगी।
  • प्रति शिक्षक ₹25,000 की दर से मानदेय के रूप में प्रति छात्रावास ₹75,000 की राशि खर्च की जाएगी।
  • इसी प्रकार महाविद्यालयों में सहायता प्राध्यापिकाओं को 45,000 जबकि व्याख्याताओं को 60,000 वेतन मिलेंगे।

राजस्थान विद्या संबल योजना अंतर्गत सेवानिवृत्त शासकीय कर्मियो के आवेदन

सेवानिवृत्त शासकीय कर्मचारियों से अस्थायी आधार पर कार्यकाल समाप्त होने तक अथवा पद भरे जाने तक संविदा नियुक्ति हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित किए जा रहे हैं।

  • इच्छुक आवेदकों को संविदा नियुक्ति हेतु रिक्त पदों के अनुसार आवेदन पत्र जमा करने होंगे।
  • आवेदन की अवधि समाप्त होने की तिथि की गणना के अनुसार 65 वर्ष से कम आयु के सेवानिवृत्त कार्मिक ही इसके लिए पात्र होंगे।
  •  आवेदन हेतु जिले में रिक्त पदों का संवर्गवार, विद्यालयवार विवरण मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के नोटिस बोर्ड पर प्रदर्शित किया जाएगा।
  • महात्मा गाँधी इंग्लिश मीडियम स्कूल में आवेदन के लिए केवल महात्मा गाँधी इंग्लिश मीडियम स्कूल की पात्रता मानदंड रखने वाले उम्मीदवार ही आवेदन कर सकते हैं।
  • आवेदन की अंतिम तिथि सूचना के प्रकाशन की तिथि से 5 दिन होगी।
  • आवेदन संबंधित स्कूल में ही जमा किया जाएगा।
  • अंतिम तिथि के बाद आवेदन स्वीकार नहीं किया जाएगा।
  • जिसपद के लिए आवेदक संविदा नियुक्ति के लिए आवेदन कर रहा है उसके साथ निम्नलिखित दस्तावेज संलग्नन करें:-
  • एप्लिकेशन फॉर्म
  • निर्धारित हलफनामा
  • सेवानिवृत्ति से पहले के दो वर्षों के परीक्षा परिणामों की सत्यापित प्रति
  •  आवेदन किए गए पद के लिए निर्धारित योग्यता का प्रमाणपत्र

राजस्थान विद्या संबल योजना शैक्षणिक स्तर से पहले रिक्त पद की गणना

  • विद्या संबल योजना के तहत स्कूलों, कॉलेजों और सरकारी शिक्षण संस्थानों में गेस्ट फैकल्टी की नियुक्ति की जाएगी।
  • इस योजना के तहत प्रत्येक शैक्षणिक सत्र से पहले रिक्त पदों की गणना की जाएगी।
  • साथ ही इन पदों पर सीधे संस्था प्रमुख और जिला कलेक्टर चयन समिति शिक्षकों का चयन उनकी योग्यता के अनुसार करेंगे।
  • विद्यालयों में प्रथम श्रेणी शिक्षक के लिए अधिकतम ₹30,000 रुपये,तीसरी श्रेणी के लिए ₹21,000 रुपये और सम्कक्ष के लिए अधिकतम मानदेय निर्धारित किया गया है।
  • इसी प्रकार महाविद्यालयों में मानदेय 45 ह़जार रुपये से लेकर असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए 60,000 रुपये तय किए गए थे।
  • इसके लिए सेवानिवृत्त शिक्षकों और योग्य बेरोजगार युवा हलफनामे के साथ आवेदन कर सकते हैं।

इसे निम्न प्रकार समझ सकते है:

विद्या संबल योजना राजस्थान के अंतर्गत शिक्षकों का वेतन

विद्यालय/प्रशिक्षण संस्थान हेतु

श्रेणीप्रति माह
तृतीय श्रेणी (कक्षा 1 से कक्षा 8 तक)₹21,000
तृतीय श्रेणी (कक्षा 9 से 10 तक)₹25,000
प्रथम श्रेणी (कक्षा 11 एवं 12)₹30,000
अनुदेशक₹21,000
प्रयोगशाला सहायक₹21,000

तकनीकी महाविद्यालय/विश्वविद्यालय/पॉलिटेक्निक कॉलेज

श्रेणीप्रति माह
सहायक आचार्य₹45,000
सह आचार्य₹52,000
आचार्य₹60,000

राजस्थान विद्या संबल योजना के नवीनतम समाचार

  • Vidya Sambal Yojana Rajasthan अधिकारिक विज्ञापन जल्द ही जारी किया जाएगा।
  • नवीनतम अपडेट यह है कि राज्य सरकार के नेतृत्व में सीएम अशोक गहलोत ने इस योजना को लागू करने और अतिथि शिक्षकों की भर्ती शीघ्र करने का निर्णय लिया है।
  • प्रदेश के विभिन्न स्कूल स्तर के शासकीय छात्रावास के विद्यार्थियों को विशेषज्ञ शिक्षकों द्वारा विभिन्न विषयों की कोचिंग दी जाएगी।
  • मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने Vidya Sambal Yojana Rajasthan के तहत गणित, विज्ञान और अंग्रेजी के शिक्षकों की सेवाएं लेने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

संविदा रोजगार से कंप्यूटर डिग्री धारक चिंतित

विद्या संबल योजना की घोषणा के बाद से कंप्यूटर डिग्री धारक अब बेरोजगारी से परेशान है। यह योजना उम्मीदवारों को अतिथि संकाय के रूप में अस्थायी रोजगार सुनिश्चित करेगी लेकिन स्थायी नहीं होगा। इसके अलावा, उनका वेतन स्कूलों या कॉलेजों या विश्वविद्यालय में स्थायी संकाय से कम होगा। पिछले दो वर्षों में कंप्यूटर शिक्षकों की एक भी भर्ती नहीं हुई है।

राजस्थान सरकार इससे पहले बजट 2019- 20 में एक कैडर बनाने की घोषणा की थी जिसमें छात्रों को सरकारी नौकरी पाने की उम्मीद दी थी। लेकिन अब Vidya Sambal Yojana Rajasthan के साथ राज्य सरकार बेरोजगार युवाओं के सपनों के साथ खेल रही है। अतिथि संकाय की भर्ती नहीं करनी चाहिए, लेकिन उसे परीक्षा आयोजित करनी होगी और फिर स्थायी आधार पर 14,000 शिक्षकों की भर्ती करनी होगी।

विद्या संबल योजना राजस्थान चयन प्रक्रिया

  • संबंधित सेवा नियमावली में वर्णित योग्यता के अनुसार राजस्थान विद्या संबल योजनान्तर्गत संस्था प्रमुख, अपने स्तर पर संस्था में रिक्त पद पर नियुक्त कर सकते है।
  • इसके अलावा जिले में जिला स्तरीय कमेटी का भी गठन किया जाएगा। इसकी अध्यक्षता जिला कलक्टर करेंगे
  • शैक्षणिक सत्र प्रारंभ होने के बाद समिति द्वारा पूर्व जिला मुख्यालय पर सार्वजनिक सूचना तैयार कर निर्धारित योग्यता रखने वाले सभी अभ्यर्थियों से आवेदन पत्र आमंत्रित किये जायेंगे.
  • तत्पश्चात निर्धारित न्यूनतम शैक्षणिक परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर मेरिट सूची तैयार की जाएगी।
  • इस सूची के आधार पर गेस्ट फैकल्टी का चयन संस्था द्वारा किया जाएगा।
  • गेस्ट फैकल्टी के कार्यों की निगरानी की जाएगी और संतोषजनक कार्य सत्यापन के आधार पर ही उन्हें भुगतान किया जाएगा।
  • सभी पद भरे जाने के बाद गेस्ट फैकल्टी के लिए कोई और आवेदन आमंत्रित नहीं किया जाएगा।

राजस्थान विद्या संबल योजना के लिए पात्रता मानदंड

  1. आवेदक को राजस्थान का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है।
  2. उम्मीदवार की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  3. आवेदक को स्नातक की परीक्षा पास करना अनिवार्य है।

राजस्थान विद्या संबल योजना की आवश्यक दस्तावेज

राजस्थान विद्या संबल योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज कुछ इस प्रकार है:-

  • शैक्षिक और प्रशिक्षण दस्तावेज
  • शैक्षिक योग्यता प्रमाण पत्र
  • आवेदक का निवास प्रमाण
  • जाति प्रमाण पत्र
  • विकलांगता प्रमाण पत्र ( अगर जरूरी हो तो)
  • SAC से संबंधित भूमि प्रमाण पत्र

विद्या संबल योजना राजस्थान आवेदन प्रक्रिया

  • सबसे पहले इस योजना से जुड़ी संबंधित विभाग से आवेदन पत्र प्राप्त करे।
  • आवेदन पत्र में पूछी गई सभी जानकारी जैसे अपना नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करे।
  • इसके बाद अपने सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को फॉर्म के साथ अटैच करे।
  • इसके पश्चात आवेदन पत्र संबंधित विभाग में जमा करे।
  • इस प्रकार आप विद्या संबल योजना राजस्थान में सफलतापूर्वक आवेदन कर सकते है।

Leave a Comment