राजस्थान जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कैसे करे

जाति प्रमाण पत्र एक दस्तावेज प्रमाण है कि एक व्यक्ति एक विशेष जाति से संबंधित है। यह जाति प्रमाण पत्र एक आवश्यक दस्तावेज हैं जिसका लाभ देश के नागरिक विभिन्न लाभों के लिए उठा सकते हैं। यह इस बात का प्रमाण है कि एक व्यक्ति एक निश्चित जाति से संबंधित है, खासकर अगर वह अनुसूचित जाति से संबंधित है जैसा कि भारतीय संविधान में निर्देशित है।

भारत में एक जाति प्रमाण पत्र संबंधित व्यक्ति की मूल जाति को साबित करता है। जाति प्रमाण पत्र आरक्षित वर्ग के लिए उम्मीदवारी साबित करने के लिए एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है। इस श्रेणी को प्रोत्साहित और कुछ विशेष अधिकार देने के लिए भारत सरकार द्वारा “सुरक्षात्मक भेदभाव की भारतीय प्रणाली” के एक भाग के रूप में शुरू किया गया है।

Table of Contents

राजस्थान जाति प्रमाण पत्र का उद्देश्य

  • जाति प्रमाण पत्र जारी करने का मुख्य उद्देश्य राज्य और केंद्र सरकार के अधीन पदों और सेवाओं को आरक्षित करने के लिए अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति से संबंधित वास्तविक उम्मीदवारों की पहुँच को सुविधाजनक बनाना है।
  •  राज्य एवं केंद्र सरकार द्वारा उन्हें प्रदान की जा रही शिक्षण संस्थानों और अन्य सुविधाओं में प्रवेश सुनिश्चित करना भी जाति प्रमाण पत्र का आवश्यक उद्देश्य है।
  • जाति प्रमाण पत्र कुछ शैक्षणिक संस्थानों और सरकारी संस्थाओं में निर्धारित कोटा प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
  •  छात्रों को स्कूल एवं कॉलेज में प्रवेश के लिए यह सरकार द्वारा दी जाने वाली छात्रवृत्ति का लाभ उठाने के लिए भी जाति प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है।
  •  रोजगार के मामले में नौकरी चाहने वालों के लिए जाति प्रमाण पत्र अनिवार्य है।
  •  जो सरकारी नौकरियों के लिए आरक्षित कोटे के तहत नियुक्ति के रूप में आवेदन करते हैं उनके पास जाति प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है।
  •  इसके अलावा विशेष आरक्षण के लिए सरकार के कुछ सब्सिडी के संवितरण के लिए जाति प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है।
  • भारत में कुछ वर्गों के लोगों के लिए विशेष प्रावधान उपलब्ध हैं जिनका देश में पर्याप्त प्रतिनिधित्व नहीं है जैसे कि अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग।
  •  जाति प्रमाण पत्र एक कानूनी दस्तावेज है जो किसी विशेष जाति के व्यक्ति के प्रमाण के रूप में कार्य करता है।
  • जाति प्रमाण पत्र सिर्फ अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं पिछड़ा वर्ग के लिए ही जारी किया जाता है और अन्य के लिए केवल निवास प्रमाण पत्र जारी किया जाता है।

इसे भी पढ़े, राजस्थान वोटर कार्ड

Rajasthan Caste Certificate Online Highlights

टॉपिक का नामराजस्थान जाति प्रमाण पत्र
ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन
राज्य का नामराजस्थान
लाभार्थीराजस्थान के एसटी एससी और ओबीसी श्रेणी के नागरिक
आवेदनऑनलाइन / ऑफलाइन
लाभसभी सरकारी सेवाओं का लाभ
आवेदन की स्थितिActive
आधिकारिक वेबसाइटemitra.rajasthan.gov.in

अवश्य पढ़े, राज किसान साथी पोर्टल

राजस्थान जाति प्रमाण पत्र का लाभ

जैसा कि हम सभी जानते हैं जाति प्रमाण पत्र मुख्य रूप से उन लोगों की मदद करते हैं जो अनुसूचित जाति, जनजाति या अन्य पिछड़ा वर्ग जैसे आरक्षित श्रेणियों से संबंधित है। जाति प्रमाण पत्र के लाभ कुछ इस प्रकार है:-

  • विधायिकाओं में सीटों का आरक्षण प्राप्त करने के लिए लाभार्थी जाति प्रमाण पत्र का लाभ उठा सकते हैं।
  • एवं सरकारी सेवा में आरक्षण प्राप्त करने के लिए भी इस जाति प्रमाण पत्र का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • जाति प्रमाण पत्र का इस्तेमाल करके लाभार्थी स्कूलों और कॉलेजों में प्रवेश के लिए एक हिस्सा या पूरी फीस माफ़ करवा सकता है।
  • लाभार्थी इस जाति प्रमाण पत्र का प्रयोग शैक्षणिक संस्थानों में कोटा प्राप्त करने के लिए भी कर सकता है।
  • एवं विशिष्ट नौकरियों के लिए आवेदन करने के लिए ऊपरी आयु में छूट प्राप्त करने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • छात्रवृत्ति हेतु आवेदन करने के लिए भी जाति प्रमाणपत्र का उपयोग कर सकते हैं।
  • सरकारी सब्सिडी प्राप्त करने के लिए भी।
  • एवं सरकार द्वारा प्रदान की गई योजनाओं के पंजीकरण के लिए भी जाति प्रमाणपत्र का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • इन विशेषाधिकारों का लाभ उठाने के लिए अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति और ओबीसी से संबंधित राजस्थान के नागरिक के पास वैध राजस्थान जाति प्रमाण पत्र होना चाहिए।

NOTE:- तहसील कार्यालय में जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करने का कोई शुल्क नहीं है। हालांकि आवेदक को आवेदन पत्र के साथ ₹2  रुपये का कोर्ट फीस टिकट चिपकाना होगा। यदि आवेदक ई मित्र स्थानीय सेवा केंद्र के माध्यम से आवेदन कर रहा है, तो उन्हें प्रमाण पत्र प्रसंस्करण के लिए सेवा शुल्क का भुगतान करना होगा।

राजस्थान जाति प्रमाण पत्र फॉर्म डाउनलोड कैसे करे?

राजस्थान राज्य में पिछड़ी जाति के नागरिक ओबीसी जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं। इस प्रमाण पत्र के माध्यम से वे विभिन्न सरकारी योजनाओं और सेवाओं से प्राप्त लाभ का आनंद ले सकते हैं। जो छात्र ओबीसी वर्ग से संबंध रखते हैं वे इस प्रमाण पत्र के आधार पर छात्रवृत्ति योजनाओं के लिए आवेदन कर सकते हैं। ओबीसी जाति प्रमाण पत्र फॉर्म खोजने की प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है:-

  • सबसे पहले आवेदकों को आधिकारिक वेबसाइट emitra.rajasthan.in पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट के होमपेज से लॉग इन विकल्प पर जाएं और उस पर क्लिक करें।
  • अब अपना विवरण दर्ज करें जैसे कि उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड।
  • लॉगिन बटन पर क्लिक करें।
  • यहाँ नए पेज पर आप को जाति प्रमाण पत्र का विकल्प मिलेगा।
  • उस पर क्लिक करें और अपनी जाति ओबीसी चुनें।
  • अब आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर एक आवेदन पत्र खुलेगा।
  • इस पेज से राजस्थान जाति प्रमाण पत्र फॉर्म को डाउनलोड करें या प्रिंट आउट ले लें और आपको आपके जाति प्रमाण पत्र मिल जाएंगे।

राजस्थान अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति का जाति प्रमाण पत्र फॉर्म

  • सबसे पहले आवेदकों को आधिकारिक वेबसाइट emitra.rajasthan.in  पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट के होमपेज से लॉग इन बटन पर जाएं और इस पर क्लिक करें।
  •  अब अपना विवरण जैसे कि उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड दर्ज करें।
  • लॉगिन बटन पर क्लिक करें।
  • यहाँ नए पेज पर आप को जाति प्रमाण पत्र का विकल्प मिलेगा।
  • उस पर क्लिक करें और अपनी जाति अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति का चयन करें।
  • अब आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर एक आवेदन पत्र खुल जाएगा।
  • इस फार्म को डाउनलोड करें और प्रिंट आउट कर ले।

इसे भी पढ़े, राजस्थान शाला दर्पण

राजस्थान जाति प्रमाण पत्र के लिए पात्रता मानदंड

  • आवेदक अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं ओबीसी या अन्य पिछड़ा वर्ग श्रेणी से संबंधित होना चाहिए।
  • आवेदक के बाद सभी आवश्यक दस्तावेज जैसे पहचान पत्र, पता आदि होना चाहिए।
  • आवेदक को राजस्थान का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • राजस्थान जाति प्रमाण पत्र बनाने की प्रक्रिया ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से की जा रही है।

राजस्थान जाति प्रमाण पत्र के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • एप्लिकेशन फॉर्म
  •  पिता का जाति प्रमाण पत्र
  •  पता प्रमाण
  •  राशन कार्ड
  •  वोटर आइडी कार्ड
  •  टेलीफोन फ़िल्म एवं बिजली बिल
  •  आय प्रमाणपत्र
  •  पासपोर्ट साइज फोटो
  • संबंधित पटवारी की रिपोर्ट
  •  आवेदन पत्र में दो सरकारी कर्मचारी प्रमाणपत्र

ऑनलाइन राजस्थान जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कैसे करे?

जाति प्रमाण पत्र हेतु ऑनलाइन आवेदन करने के लिए राजस्थान का कोई भी निवासी निचे दिए गए स्टेप को फॉलो कर कर सकते है:

  • सबसे पहले ई-मित्र की Official Website पर जाएँ।
  • ऑफिसियल वेबसाइट का होम पेज इस प्रकार ओपन होगा।
Caste Certificate Rajasthan Registration
  • होम पेज से Login के विकल्प पर क्लिक करे जैसे स्क्रीन शॉट में दिखाया गया है, या direct लिंक पर क्लिक करे।
  • यदि आप पहले से ऑफिसियल वेबसाइट पर रेजिस्टर्ड है तो लॉगिन करे अगर नहीं है रजिस्ट्रेशन करे।
  • रजिस्ट्रेशन या लॉग इन प्रक्रिया पूरा करने के बाद Rajasthan Single Sign On (SSO) का एक पेज ओपन होगा।
  • वहाँ ई मित्रा का एक ऑप्शन दिखाई देगा, उसपर क्लिक करे।
  • उसके बाद Avail Service के ऑप्शन पर क्लिक करे।
  • फिर Application Service पर क्लिक करें।
  • अगले पेज से जाति प्रमाण पत्र के विकल्प पर क्लिक करे।
  • अब आप फॉर्म भरकर राजस्थान जाति प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।

इसे भी पढ़े, भू नक्शा राजस्थान

जाति प्रमाण पत्र राजस्थान के आवेदन की स्टेटस कैसे चेक करें?

  • Caste Certificate Rajasthan Application Status चेक करने के लिए ई-मित्र के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ।
  • होम पेज के मेन्यू से Online Verification Section के विकल्प पर क्लिक करे।
  • विकल्प पर क्लिक करने के बाद इस प्रकार का पेज खुलेगा
Caste Certificate Rajasthan Application Status Check
  • इस फॉर्म में आवेदन की स्थिति चेक करने के लिए दो विकल्प दिया जाएगा
    • Transaction ID
    • Receipt No.
  • दोनों में से किसी एक का चयन कर आवेदन की स्थिति ट्रैक कर सकते है।
  • Transaction ID या Receipt No. का चयन कर और Transaction ID या Receipt No. दर्ज करके सर्च के बटन पर क्लिक करें
  • क्लिक करते ही स्क्रीन पर आवेदन की स्थिति खुलकर आ जाएगी।
  • इस प्रकार राजस्थान जाति प्रमाण पत्र की आवेदन की स्थिति चेक कर सकते है।

राजस्थान जाति प्रमाण पत्र ऑफलाइन आवेदन कैसे करे?

  • ऑफलाइन राजस्थान जाति प्रमाण पत्र बनवाने के लिए सबसे पहले अपने क्षेत्र के नजदीकी तहसील कार्यालय में जाएँ।
  • आवेदन करने के लिए फॉर्म मांग करे या प्राप्त करे
  • उसके बाद फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी दर्ज करे।
  • आवेदन पत्र के साथ मांगे गए सभी दस्तावेजों और पासपोर्ट साइज फोटो को अटैच करे
  • फॉर्म में गलती होने की संभावना को चेक करे।
  • इसके बाद फॉर्म को सम्बंधित विभाग में जमा करे।
  • आवेदन पत्र और दस्तावेजों का सत्यापन करने के बाद लगभग 10-15 में जाति प्रमाण पत्र बनकर दिया जाएगा।

जाति प्रमाण पत्र के लिए ई-मित्र मोबाइल एप्प कैसे डाउनलोड करें?

राजस्थान जाति प्रमाण पत्र डाउनलोड कैसे करे?

  • सबसे पहले आवेदकों को अधिकारिक वेबसाइट emitra.rajasthan.in को खोलना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट के होमपेज से ‘लॉग इन’ विकल्प पर जाएं और उस पर क्लिक करें।
  • यदि आपने पहले ही पंजीकरण कर लिया है तो अपना विवरण ( SSOID और पासवर्ड)  दर्ज करें।
  • यदि आप पंजीकृत नहीं है तो पंजीकरण विकल्प पर क्लिक करें और अपना पंजीकरण पूरा करें।
  • अब एक नए यूजरनेम और पासवर्ड के साथ अपनी आईडी में लॉग इन करें।
  • यहाँ आपको E-MITRA नाम का एक विकल्प मिलेगा,  उस पर क्लिक करें।
  • अब सर्विस ऑप्शन पर क्लिक करें और इसके बाद अवेलेबल सर्विसेज को चुनें।
  • इसके बाद आवेदन विकल्प चुनें।
  • यहाँ एक बॉक्स में “जाति” लिखें
  • अब वह जाति चुनें जिसके लिए आप जाति प्रमाण पत्र बनाना चाहते हैं।

दूसरा चरण:-

  • दूसरे चरण में आधार कार्ड नंबर, भामाशाह आई डी, एमित्र पंजीकरण इनमें से कोई भी दर्ज करें।
  • आगे बढ़ने के विकल्प पर क्लिक करें
  •  इसके बाद वह पूरा विवरण दर्ज करें जिसके लिए आप चुनते हैं।
  • अब जाति प्रमाण पत्र के साथ एक विकल्प आएगा।
  •  उस पर क्लिक करें और सही विवरण के साथ जाति प्रमाण पत्र फॉर्म भरे।
  • अनिवार्य दस्तावेज संचालन करें और इसे अंत में जमा करें।
  •  इसके बाद आप अपना जाति प्रमाण पत्र डाउनलोड कर सकते हैं।

सामान्य प्रश्न: FAQs

Q. राजस्थान जाति प्रमाण पत्र संख्या कहाँ है?

जाति प्रमाण पत्र की संख्या प्रमाण पत्र के निचले भाग में बाएँ कोने में पाई जाती है।

Q. जाति प्रमाण पत्र जारी करने वाले प्राधिकारी में क्या लिखा होना चाहिए?

  • नाम
  •  लिंग
  • पिता नाम
  • माता का नाम
  • वर्तमान पता प्रमाण
  • आयु, जन्म प्रमाण पत्र

Q. राजस्थान में ओबीसी प्रमाणपत्र की वैधता क्या है?

राजस्थान राज्य में, यह तीन वर्ष का होगा, लेकिन ओबीसी नॉन क्रीमी लेयर की निरंतर पात्रता के लिए वैध प्रमाण के रूप में आय प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने की आवश्यकता है।

Leave a Comment