भू नक्शा बिहार 2023: चेक एवं डाउनलोड करे

बिहार भू नक्शा आम तौर पर भूमि एवं भूखण्ड के नक्शे के लिए संदर्भित शब्द है। बिहार राज्य में, सरकार ने ‘भू नक्शा बिहार’ के माध्यम से मानचित्रों को डिजिटल प्रारूप में उपलब्ध कराने में महत्वपूर्ण प्रगति की है। भू नक्शा वेब एप्लिकेशन उपयोगकर्ता को व्यापक भूमि मानचित्र ऑनलाइन देखने और डाउनलोड करने की अनुमति देता है।

भू नक्शा बेव एप्लिकेशन को राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र एनआईसी द्वारा डिजाइन किया गया। भू नक्शा एप्लिकेशन का उपयोग मुख्य रूप से भूमि के लक्ष्य की जांच, संपादन, डाउनलोड और डिजिटाइज करने के लिए किया जाता है। “भू नक्शा बिहार” द्वारा प्रदान किए गए मानचित्र विचाराधीन भूखंड के सटीक सीमाओं को परिभाषित करता है।

भू नक्शा बिहार पर निवेश करने से पहले होमबॉयर्स संबंधित प्लॉट के क्षेत्र, आयाम और आकार को आसानी से ऑनलाइन सत्यापित कर सकते हैं। भू नक्शा बिहार पोर्टल होमबॉयर्स के भूमि रिकॉर्ड की वैधता को ऑनलाइन सत्यापित करने में मदद करता है।

Bhu Naksha Bihar 2023

बिहार में जमीन खरीदने वाले लोग भू नक्शा बिहार की वेबसाइट पर संपत्ति के स्वामित्व की जानकारी की जांच कर सकते हैं। राज्य में डिजिटल भूमि रिकॉर्ड या बिहार में ऑनलाइन भूलेख मानचित्र नागरिको को राजस्व कार्यालय जाने की आवश्यकता के बिना उसकी भूमि संबंधी विवरण जानने में सक्षम बनाता है।

भू नक्शा, एक हिंदी शब्द है, जिसे भारत में भूकर मानचित्र के रूप में जाना जाता है। एक भू नक्शा उक्त भूमि पार्सल की सीमा, मूल्य और स्वामित्व को दर्शाता है। भारत के अधिकांश राज्य सरकार के डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत यह विवरण प्रदान करते हैं। दिलचस्प बात यह है कि उनकी अधिकांश वेबसाइटों का नाम भू नक्श है। बिहार के मामले में भूमि संबंधित सभी विवरण देने वाले आधिकारिक पोर्टल को बिहार भूलेख वेबसाइट के रूप में जाना जाता है।

बिहार भू नक्शा प्लॉट रिपोर्ट क्या है?

प्लॉट रिपोर्ट उस क्षेत्र का प्रिंट करने योग्य नक्शा है जिसमें प्लांट स्थित है। डिफ़ॉल्ट रूप से, बिहार भूमि रिकॉर्ड नक्शा रिपोर्ट सबसे उपयुक्त पैमाने के साथ A4 आकार के कागज पर मुद्रित की जाती है। बिहार में भू मानचित्र की रिपोर्ट किसी भी पैमाने पर उत्पन्न करना संभव है और किसी विशेष मालिक के सभी प्रखंडों के लिए रिपोर्ट तैयार कर सकते हैं। लेकिन प्रत्येक भूखंड की रिपोर्ट अलग अलग पृष्ठ पर मुद्रित की जाती है।

NOTE:- यदि आप बिहार भूमि का नक्शा ऑनलाइन नहीं देख सकते हैं, तो ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि अधिकारी अभी भी इसे अद्यतन करने की प्रक्रिया में है।बिहार में संबंधित विभाग के कार्यालय में भौतिक रूप से दौरा करके बिहार भूमि के नक्शे के बारे में प्रगति और स्थिति के बारे में पूछ्ताछ कर सकते हैं।

अवश्य पढ़े, यूपी भू नक्शा

Bhu Naksha Bihar Highlights

पोर्टल का नामभू नक्शा बिहार
संबधित राज्यबिहार
संबधित विभागराजस्व व भूमि सधार विभाग, बिहार
उद्देश्यभू नक्शा ऑनलाइन प्राप्त करना
लाभार्थीबिहार के लोग
वर्ष2023
आधिकारिक वेबसाइटhttp://bhunaksha.bihar.gov.in/

भू नक्शा बिहार का लाभ

Bhu Naksha Bihar के वेब पोर्टल ने जटिल भूमि अभिलेखों के ऑनलाइन सत्यापन की अनुमति दी है।अब तक, प्रमाणित भूमि अभिलेख प्राप्त करने की प्रक्रिया थकाऊ और समय लेने वाली थी। इसके अलावा, एक भूखंड खरीदने से पहले कोई भी विवरण ऑनलाइन सत्यापित कर सकता है और विवरण की सत्यता का पता लगा सकता है। भू नक्शा बिहार पोर्टल कई कारणों से उपयोगी है जैसे:-

  • भू स्वामी सत्यापन:- भू नक्शा बिहार पोर्टल समय- समय पर अपडेट होते रहते हैं। जब भी कोई निवेशक या खरीदार प्लॉट की वैधता की जांच करना चाहता है, तो वह ऑनलाइन इस पोर्टल के माध्यम से प्लॉट मालिक का विवरण जान सकता है।
  • प्लॉट एरिया वेरिफिकेशन:- जैसा कि भू अपडेट नक्शा बिहार प्लॉट की जानकारी क्षेत्र और आयामों के सटीक विवरण के साथ प्रदान किया जाता है। इसलिए विक्रेता विचाराधीन भूमि के बारे में झूठे दावे नहीं कर सकते हैं।
  • भूमि की वैधता :- एक प्लॉट खरीदार हमेशा एक प्लॉट की वैधता और भूमि उपयोग के विवरण की ऑनलाइन जांच कर सकता है। जैसा कि भू नक्शा पोर्टल स्पष्ट रूप से भूमि को आवासीय,या सार्वजनिक भूमि के रूप में परिभाषित करता है।भूमि पार्सल के बारे में किसी भी झूठे दावे को ऑनलाइन सत्यापित किया जा सकता है। यह धोखाधड़ी और कानूनी विवादों को पहले से रोकता है।
  • एकीकृत भूमि रिकॉर्ड:- भू नक्शा बिहार ने न केवल एक जटिल प्रक्रिया को सुव्यवस्थित किया है, बल्कि यह प्रमुख भूमि रिकॉर्ड विवरण जैसे रिकॉर्ड ऑफ राइट, भूमि के नक्शे और खसरा, खतौनी,  मालिक का नाम, राजस्व दर, भूखंड आयाम आदि की जानकारियां एक ही स्थान पर प्रदान करता है।
  • समय की बचत:- चुकी भू नक्शा बिहार सुविधा ऑनलाइन है, यह सरकार और नागरिको दोनों के लिए बहुत समय और संसाधनों की बचत करता है।भूमि विवरण ऑनलाइन सत्यापित किया जा सकता है। और अब भूमि रिकॉर्ड के लिए सरकारी कार्यालयों में जाने की कोई आवश्यकता नहीं है।

भू नक्शा बिहार विवरण वाले जिलों की सूची

केवल नालंदा, मधेपुरा, सुपौल और लखीसराय में भू नक्शा ऑनलाइन अपडेट किया गया है। शेष क्षेत्रों के लिए डेटा अभी भी डिजिटल और अद्यतन किए जाने की प्रक्रिया में है।

बाँका (Banka)नवादा (Nawada)
सुपौल (Supaul)लखीसराय (Lakhisarai)
अररिया (Araria)मधुबनी (Madhubani)
नालंदा (Nalanda)किशनगंज (Kishanganj
अरवल (Arwal)मधेपुरा (Madhepura)
औरंगाबाद (Aurangabad)मुंगेर (Monghyr)
भोजपुर (Bhojpur)रोहतास (Rohtas)
पूर्णिया (Purnea)मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur)
सहरसा (Saharsa)समस्तीपुर (Samastipur)
भागलपुर (Bhagalpur)पटना (Patna)
जमुई (Jamui)बेगूसराय (Begusarai)
शिवहर (Sheohar)दरभंगा (Darbhanga)
बक्सर (Buxar)जहानाबाद (Jehanabad)
सीवान (Siwan)कटिहार (Katihar)
पूर्वी चम्पारण (East Champaran)शेखपुरा (Shiekhpura)
सीतामढ़ी (Sitamarhi)पश्चिमी चम्पारण (West Champaran)
गया (Gaya)सारन (Saran)
गोपालगंज (Gopalganj)खगड़िया (Khagaria)
 वैशाली (Vaishali)कैमूर (Kaimur)

इसे भी पढ़े, भू नक्शा राजस्थान

भू नक्शा बिहार नवीनतम अपडेट

1) बिहार भूमि माप के लिए इलेक्ट्रॉनिक टोटल स्टेशन मशीन का उपयोग:-

4 सितंबर 2021,बिहार सरकार राज्य के 20 जिलों में भूमि मापी एवं भूमि सर्वेक्षण कार्य के लिए इलेक्ट्रॉनिक टोटल स्टेशन मशीनें उपलब्ध कराने की योजना बना रही है। यह कदम बिहार राजस्व विभाग की भूमि को डिजिटल बनाने की योजना का हिस्सा है।ETS मशीनों का वितरण अक्टूबर 2021 के महीनों से शुरू हो चुकी है।

2) हर प्लॉट के लिए बिहार में यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर:-

बिहार में, प्रत्येक भूखंड को आधार संख्या के समान अपनी विशिष्ट पहचान संख्या दी जाएगी। यह 14 अंकों का, अक्षरांकीय संयोजन होगा।इस विकास को आज़माने वाला शेखपुरा राज्य का पहला जिला होगा। सरकार रियल टाइम मैप विकसित करने की भी इच्छुक है और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से इसका समेकन किया जाएगा।

3) बिहार में जल्द ही हवाई नक्शा तैयार करने की प्रक्रिया चल रही है:-

डीएम कौशल कुमार ने बिहार में हवाई सर्वेक्षण करने वाली एजेंसी को निर्देश दिए हैं।कलेक्टर सभागार में हुई बैठक में डीएम ने कहा कि एरियल मैप पर आधारित सर्वे कार्य में देरी न हो इसके लिए अपर कलेक्टर एजेंसी के साथ समन्वय कर कार्य करेंगे। होल्डिंग जैसे विभिन्न माध्यमों से कार्य का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाएगा। निर्देश दिया कि इन्हें शिविर पंचायत, मौजा, ब्लॉक और अंचल कार्यालयों जैसे स्थानों पर प्रदर्शित किया जाए साथ ही नियमित निगरानी सुनिश्चित की जाएगी।

4) मधेपुरा में डिजिटल सर्वे:-

हाल ही में मधेपुरा में अमित कुमार की अध्यक्षता में एक सर्वेक्षण शिविर का आयोजन किया गया था। शिविर को संबोधित करते हुए ASO सफी अख्तर ने कहा कि 1965 के बाद पहली बार नए सिरे से सर्वे शुरू किया जाएगा और इस बार यह डिजिटल होगा। शंकरपुर प्रखंड में सर्वे कार्यालय पंचायत सरकार भवन बनाया गया है। भविष्य में चंपानगर, जीरवा, बसंतपुर सहित सभी आठ राजस्व गांव का भूमि संबंधी सर्वेक्षण कार्य कराया जाएगा।

5) बिहार में कम हो सकते हैं भूमि विवाद:-

प्राधिकरण भूमि विवाद के मामलों की संख्या में 80% तक की कमी का अनुमान लगा रहे हैं।

6) बिहार में सर्वेक्षण मानचित्रों की होम डिलीवरी:-

बिहार सरकार अगस्त 2021 से स्पीड पोस्ट के माध्यम से सर्वेक्षण और समेकन मानचित्रों की होम डिलिवरी की पेशकश कर चुकी हैं। लोगों को डाक शुल्क का भुगतान करना होगा और नक्शा घर पहुँच जाएगा और किसी को अब सरकारी कार्यालयों में बार- बार जाने की आवश्यकता नहीं होगी। एक बार अधिकारियों द्वारा सूचित किए जाने के बाद, आवेदन और आवश्यक शुल्क ऑनलाइन प्रस्तुत किए जा सकते हैं।

NOTE :- साथ ही एनआईसी, एक ऐसा सॉफ्टवेयर विकसित कर रहा है जिसके जरिए राजधानी पटना में बैठकर नालंदा के किसी भी गांव का नक्शा प्राप्त किया जा सकता है। पहले मानचित्र प्राप्त करने की सुविधा उसके जिले की सीमा तक सीमित थी। पर इसके माध्यम से लोग सीमा के बाहर भी इसे प्राप्त कर सकते हैं।

भू नक्शा बिहार को ऑनलाइन कैसे देखें?

बिहार का कोई भी नागरिक अपने खेत का नक्शा ऑनलाइन सरलता से देख सकता है। इसलिए, निचे स्टेप by स्टेप प्रोसेस दिया गया है जिसे फॉलो कर भू नक्शा बिहार को डाउनलोड या प्रिंट कर सकते है।

  • सबसे पहले Bhu Naksha Bihar के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ, दिए गए लिंक पर क्लिक कर भी direct वेबसाइट पर जा सकते है।
  • ऑफिसियल वेबसाइट का होम पेज इस प्रकार खुलेगा।
  • नए पेज से जिला, डिवीज़न और मौजा सेलेक्ट करे, जैसे निचे स्क्रीन शॉट में दिखाया गया है।
Bhu Naksha Bihar Check
  • इसके बाद नक्शा में से खसरा नुम्बर चयन करे।
  • क्लिक करने के बाद स्क्रीन पर बायीं ओर plot info यानि खसरा का विवरण दिखाई देगा; जैसे निचे दिखाया गया है।
Bhu Naksha Bihar Check and Download

इस प्रकार किसी भी जमीन का जानकारी सरलता से ऑनलाइन निकाल सकते है।

बिहार भू नक्शा का मैप रिपोर्ट कैसे देखें?

  • भू नक्शा बिहार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।
  • होम पेज से District, sub division, circle, mauza, type व sheet संख्या दर्ज करे।
  • भू नक्शा पर अपने खसरा संख्या पर क्लिक करें।
  • plot info को सत्यापित करें।
  • Map रिपोर्ट निकालने के लिए plot info विकल्प के नीचे map report या LPM Report के विकल्प पर क्लिक करें।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नए पेज पर भू नक्शा मैप रिपोर्ट इस प्रकार खुलेगा।
Bhu Naksha Bihar Map Report
  • Bhu Naksha Bihar Map Report को डाउनलोड या प्रिंट करने के लिए सम्बंधित आइकॉन पर क्लिक करे।
  • इस प्रकार Bhu Naksha Bihar चेक एवं डाउनलोड कर सकते है।

Bhu Naksha Bihar – FAQs

1. बिहार के गांव का नक्शा कैसे देखें?

 अगर आप बिहार के नागरिक हैं और आप अपने जमीन का भू नक्शा देखना चाहते हैं तो आप बिहार भू नक्शा के अधिकारिक वेबसाइट http://bhunaksha.bhi.nic.in/bhunaksha पर जाकर देख सकते हैं।

2. प्लॉट नंबर कैसे देखें बिहार?

  •  बिहार Irc.bhi.nic.in पोर्टल के होमपेज पर जाएं।
  •  मैंप में जिले के नाम पर क्लिक करें।
  • अपना प्रखंड एवं अंचल के नाम पर क्लिक करें।
  •  गांव एवं मौजा का नाम दर्ज करें
  •  अपनी जमीन का खाता खसरा नंबर जानें
  •  अधिकार अभिलेख नकल रिपोर्ट देखें

3. बिहार का नक्शा कैसे डाउनलोड करें?

  • अपने खेत या जमीन का भूमि नक्शा बिहार ऑनलाइन चेक एवं डाउनलोड करने के लिए सबसे पहले बिहार भुवनेश्वर की ऑफिशल वेबसाइट bhunaksha.bhi.nic.in में जाना है।
  • इसके बाद अपना जिला, डिवीज़न एवं मौजा सेलेक्ट करना है।
  • फिर आपके द्वारा सेलेक्ट किए गए मौजा का मैप स्क्रीन पर दिखाई देगा।
  •  इसमें आपको अपने जमीन का खसरा नंबर सेलेक्ट करना है।

Leave a Comment