मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन

सरकार सभी के लिए स्वास्थ्य को एक राष्ट्रीय लक्ष्य के रूप में मान्यता देती है। और इस लक्ष्य को पूरा एवं सक्षम बनाने के लिए “उत्तम स्तर के चिकित्सक”को तैयार करने के लिए चिकित्सा प्रशिक्षण की अपेक्षा करती है। हालांकि राज्य चिकित्सा,  शिक्षा और स्वास्थ्य देखभाल समाग्री और हस्तक्षेप में गंभीर चुनौतियों का सामना कर रही है।

राजस्थान में भारत की आबादी का 5.7% हिस्सा है। राजस्थान में भारतीय राज्यों में अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों की आबादी का अनुपात सबसे अधिक है, क्रमशः 17.8% और 13.5%। राजस्थान में युवाओं का बोलबाला है, जिसकी 45% से अधिक जनसंख्या 19 वर्ष से कम आयु की है और केवल 7.4% की आयु 60 वर्ष और उससे अधिक है।

NOTE:-

राज्य में बीमारियों का बोझ अभी भी बहुत बड़ा है।राष्ट्रीय आंकड़े के मुताबिक, विभिन्न राज्यों के साथ साथ ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों के बीच बुनियादी चिकित्सा सेवाओं और गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य देखभाल तक पहुँच के संबंध में व्यापक असमानताओं को प्रकट करते हैं। ये आम तौर पर अपर्याप्त बुनियादी ढांचे और संसाधनों की कमी के  लिए जिम्मेदार हैं।

Table of Contents

Rajasthan Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana 2023

राजस्थान के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा 2 अक्टूबर 2011 को मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना शुरू की गई है। इस योजना के माध्यम से सरकारी अस्पतालों में आने वाले सभी इनडोर और आउटडोर रोगियों को आवश्यक दवा सूची में शामिल दवाएं निशुल्क उपलब्ध कराई जाएगी।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा जारी मासिक रैंकिंग में राजस्थान सरकार के निशुल्क दवा योजना को 16 राज्यों में पहला स्थान मिला है। यह योजना राजस्थान के तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा शुरू की गई थी। मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना का मुख्य उद्देश्य कैंसर, हृदय और गुर्दे से संबंधित बीमारियों और अन्य गंभीर बीमारियों से पीड़ित रोगियों के लिए स्वास्थ्य देखभाल की लागत को कम करना है।

NOTE:-

Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana के तहत रोगियों के जेब खर्च भी कम हुए हैं और रोगियों की ज़रूरतों को भी पूरा करने में प्रभावी रूप से मददगार साबित हुई है। इस योजना से सरकारी खर्च में भी बचत हुई है।

अवश्य पढ़े, राजस्थान नवजात सुरक्षा योजना

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना का उद्देश्य

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के तहत राज्य को उनके संबंधित राज्यों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से रैंकिंग शुरू की थी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य सरकारी अस्पताल में आने वाले सभी इनडोर और आउटडोर रोगियों को आवश्यक दवा सूची में शामिल दवाओं को मुफ्त में उपलब्ध कराना है।

इस योजना के तहत सरकारी अस्पतालों में इलाज करा रहे हितग्राहियों को नी शुल्क दवाएं दी जाएगी। साथ ही उन्हें मेडिकल टेस्ट की भी मुफ्त सुविधा दी जाएगी।

Beneficiaries:-

  • सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए आने वाले सभी आउटपेशेंट मरीज को इस योजना के तहत मुफ्त दवा उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • सरकारी अस्पताल में भर्ती रोगी भी इस योजना के तहत लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • सभी सरकारी अधिकारी, कर्मचारी और सेवानिवृत्त राज्य कर्मचारी, पेंशनभोगी भी इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana Highlights

जाएगी।

योजना का नामराजस्थान मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना
आरंभ कीराजस्थान सरकार ने
लाभार्थीराज्य के नागरिक
सुविधामुफ्त दवाइयां और मेडिकल टेस्ट
संबंधित विभागचिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग
आवेदन का प्रकारऑनलाइन/ऑफलाइन
योजना की स्थितिएक्टिव
वर्ष2022
राज्य राजस्थान
आधिकारिक वेबसाइटयहाँ visit करे

राजस्थान मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना का लाभ

  • मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के तहत सभी चिकित्सा संस्थानों में दवाओं के वितरण के लिए जिला मुख्यालय पर 40 जिला दवा भंडार स्थापित किए गए हैं।
  • Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana के माध्यम से लगभग 971 दवाएं निशुल्क उपलब्ध कराई जाएगी।
  • मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के तहत निशुल्क दवाएं और जांच पहले ही बढ़ा दी गई है।
  •  अब इस योजना के तहत लाभार्थी 712 प्रकार की दवाएं और 90 परीक्षण निशुल्क करवा सकते हैं।
  • इस योजना की मदद से रोगियों को मुफ्त दवाइयों का लाभ प्रदान किया जाएगा।

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना की विशेषताएं

  • राजस्थान के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा Mukhyamantri Nishulk Dava Yojana 2022 का शुभारंभ किया गया।
  • इस योजना के माध्यम से सरकारी अस्पतालों में आने वाले सभी इनडोर और आउटडोर रोगियों को आवश्यक दवा सूची में शामिल दवाएं निशुल्क उपलब्ध कराई जाएगी।
  • मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत, द्वारा 2 अक्टूबर 2011 को शुरू की गई थी।
  • इस योजना के तहत सभी सरकारी अस्पताल, मेडिकल कॉलेज अस्पताल, जिला अस्पताल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और उपकेंद्र को कवर किया गया है।
  • राजस्थान चिकित्सा सेवा निगम का गठन चिकित्सा विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग के लिए दवाओं, शल्य चिकित्सा और टांके की खरीद के लिए एक केंद्रीय एजेंसी के रूप में किया गया है।
  • OPD के समय आउट पेशेंट के लिए दवा वितरण केंद्र सुनिश्चित किया जाएगा।
  • इसके अलावा इंडोर और इमरजेंसी मरीजों के लिए 24 घंटे दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।
  • यदि किसी कारणवश दवाओं की अनुपलब्धता होती है तो राज्य के अस्पतालों की मांग के अनुरूप स्थानीय खरीद कर दवा उपलब्ध कराई जाएगी।

इसे भी पढ़े, राजस्थान मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के अंतर्गत समस्याओं का विवरण

  • राजस्थान की अपनी आवश्यक दवा सूची 2005 ( अब 2012 और संशोधित 2013) और मानक उपचार दिशानिर्देश-STGS 2006 (अब संशोधित 2012) थी, जो आवादी की प्राथमिक स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों को पूरा करने वाली है।
  • इन आवश्यक दवाओं और दिशानिर्देशों का चयन नैदानिक प्रोटोकोल, रोग प्रसार, प्रभावकारिता पर साक्ष्य, सुरक्षा और तुलनात्मक लागत प्रभावशीलता के संबंध में किया जाता है।
  •  चिकित्सकों से इन दिशा निर्देशों का पालन करने की अपेक्षा की जाती है, लेकिन अभी भी बड़े अंतराल मौजूद है।
  • इस तरह के प्रयास के बावजूद, राजस्थान में किफायती, उचित दवाओं तक पहुँच और उनका तर्क संगत उपयोग एक चुनौती बना हुआ है।
  •  दवा की खरीद, गुणवत्ता जांच, वितरण और मूल्य निर्धारण की प्रक्रिया में काफी अंतर था।
  • इन कमियों के साथ- साथ परिवहन सुविधाओं में अपर्याप्त भंडारण और कमियों की समस्याएं भी थीं।
  •  दवा आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन प्रणाली को मजबूत करने और मुफ्त जेनरिक दवाएं उपलब्ध कराने के लिए 2011-12 में मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना शुरू किया गया था।

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना की नई जानकारियां

  1. राजस्थान सरकार ने 2019- 20 के बजट में राजस्थान के गरीब लोगों के लिए फिर से राजस्थान की मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना शुरू की है।
  2.  इस योजना के तहत सरकार गरीब मरीजों को मुफ्त दवा और जांच की सुविधा मुहैया कराएगी।
  3.  साथ ही सरकारी अस्पतालों में इलाज और मेडिकल टेस्ट कराने के लिए भी आर्थिक मदद दी जाएगी।
  4. इस योजना के तहत 2021- 22 में 600 करोड़ रुपये का प्रावधान है, जिसमें राज्य के पास 40% और केंद्र के पास 60% है।

राजस्थान मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के कार्यक्रम का विवरण

  • मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के तहत जेनरिक दवाओं की मुफ्त आपूर्ति की जाएगी।
  • इस योजना के तहत आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन को मजबूत बनाना है।
  • एक स्वायत केन्द्रित खरीद एजेंसी राजस्थान चिकित्सा सेवा निगम की स्थापना की गई।
  • RMSC जिला ड्रग वेयर हाउस के माध्यम से जेनरिक दवाओं और शैल चिकित्सा और नैदानिक उपकरणों की खरीद और राजस्थान राज्य में सरकारी चिकित्सा संस्थानों को उनके वितरण के लिए जिम्मेदार है।
  • RMSC में दवाओं की गुणवत्ता नियंत्रण की प्रक्रिया को भी मजबूत किया है।
  • RMSC, हर समय आवश्यक दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की और जेनरिक दवाओं के उपयोग पर विशेष ज़ोर देते हुए दवाओं के तर्क संगत उपयोग को बढ़ावा दिया है।
  • अपने विविध कार्यों में से प्रत्येक के लिये, निगम को आरएमएससी के कुशल कामकाज के लिए विशिष्ट भूमिकाओ साथ विभिन्न कक्षों में संगठित किया गया है।
  • RMSC, की स्थापना से पहले जिला ड्रग वेयर हाउस केंद्रीय और राज्य स्तर से सभी आपूर्ति प्राप्त करने के लिए स्टोर के रूप में कार्य कर रहे थे और सीएम और एचओएस  के प्रशासनिक नियंत्रण में थे।
  •  इन ड्रग वेयर हाउस ( 27 स्थानों) को लगभग 3000 वर्ग फुट क्षेत्र की अतिरिक्त भंडारण क्षमता प्रदान की गई और आवश्यक उपकरण और बुनियादी ढांचे से सुसज्जित किया गया।
  • ई- औषधि इन्वेंट्री प्रावधान के लिए एक सॉफ्टवेयर लॉन्च किया गया था।
  • यह एक बैग आधारित एप्लीकेशन है जो DDWS मैं विभिन्न दवाओं, टांके और सर्जिकल वस्तुओं के स्टॉक के इन्वेंट्री प्रावधान से संबंधित है।
  • ई औषधि सॉफ्टवेयर में शामिल हैं- ऑनलाइन डिमांड, रेंट कॉन्ट्रैक्ट डिस्क, ऑनलाइन पीओ जेनरेशन, सप्लायर इंटरफेस, एक्सपायरी ड्रग्स डिटेल इत्यादि।
  • मुख्यमंत्री मुफ्त दवा योजना के तहत आवश्यक दवा सूची के उपयोग के बारे में डॉक्टरों को जागरूक करना और उन्हें राज्य STGS का पालन करने के लिए मजबूर कर के डॉक्टरों के पर्चे की व्यवहार में बदलाव लाने का प्रयास किया गया है।

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना की वित्तीय प्रगति

वित्तीय वर्ष2022-23
राज्य निधि790 करोड
केंद्रीय सहायता360 करोड़
योग (प्रावधान)1150 करोड़
राज्य निधि (व्यय)377.49 करोड़
केंद्रीय सहायता (व्यय)116.17 करोड़
योग (व्यय)493.66 करोड़

इसे भी पढ़े, राजस्थान नंद घर योजना

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना कार्यक्रम के परिणाम

  • कम सेवा वाले लोगों की पहुँच और इक्विटी में वृद्धि और साथ ही इस योजना की मदद से पहले 44 लाख रोगियों का प्रतिमाह इलाज किया जाता था बाद में यह संख्या बढ़ कर 62,लाख रोगियों प्रतिमाह हो गयी।
  • युवा रोजगार का स्रोत
  •  उपचारित बालिकाओं की संख्या में वृद्धि
  •  इस योजना की मदद से गरीबों की जेब से खर्च में कमी आई है।
  • महंगी दवाओं की खुदरा बिक्री में कमी विशेष रूप से कैंसर रोगी, रेबीज के टीके आदि।
  •  इस योजना के तहत सरकार के खर्च में भी बचत आई है।

राजस्थान मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के लिए पात्रता मानदंड

  • आवेदक राजस्थान का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक को इनडोर और आउटडोर रोगियों में शामिल होना चाहिए।
  • व्यक्ति गरीबी रेखा से नीचे बीपीएल श्रेणी से संबंधित होना चाहिए।
  •  क्योंकि यह योजना राज्य के गरीब लोगों के लिए शुरू की गई है।
  • लाभार्थी व्यक्ति को इस उद्देश्य के लिए किसी अन्य योजना का लाभ नहीं लेना चाहिए।

निशुल्क दवा योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड ( Aadhaar card)
  • पता प्रमाण ( Address proof)
  • आय प्रमाणपत्र ( Income certificate)
  • आयु प्रमाणपत्र ( Age certificate)
  • पासपोर्ट साइज फोटो ( Passport size photograph)
  • मोबाइल नंबर ( Mobile number)
  • ईमेल आइडी ( Email id)

राजस्थान मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के घटक

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के दो घटक ( Components)  है:-

  1. नी शुल्क दबाएँ ( Free Medicines) :- सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में आने वाले मरीजों को सामान्य रूप से उपयोग में आने वाली आवश्यक दवाएं निशुल्क उपलब्ध कराए जाएंगे।
  2. नी शुल्क परीक्षण ( Free Test) :- सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में आने वाले रोगियों का निशुल्क परीक्षण सुनिश्चित कराया जाएगा।

NOTE:- इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए राजस्थान मेडिकल सर्विस कॉर्पोरेशन लिमिटेड ( RMSCL) को पब्लिक लिमिटेड कंपनी के रूप में निर्मित किया गया था।

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना 2022 आवेदन प्रक्रिया

  • सबसे पहले अपने नजदीकी चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण कार्यालय में जाएँ।
  • ऑफिस से मुख्यमंत्री निशुल्क दवा आवेदन पत्र प्राप्त करे।
  • आवेदन पत्र में पूछी गई सभी जानकारी जैसे अपना नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करे।
  • भरे हुए आवेदन पत्र के साथ अपने सभी आवश्यक दस्तावेज अटैच करे।
  • इसके पश्चात आवेदन पत्र कार्यालय में जमा करे।
  • इस प्रकार आपकी आवेदन मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना में हो जाएगा।

निशुल्क दवा योजना संपर्क विवरण

  • विभाग – चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग
  • फोन नंबर:
    • 9887027251
    • (+91) 141-2388110
  • ईमेल आईडी: drrafiquekhan@live.com

Leave a Comment