आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना में आवेदन कैसे करे

भारतीय राज्य,  राजस्थान देश के सबसे खूबसूरत राज्यों में से एक है। यह 6 करोड़ों लोगों की बिनम्र आबादी के साथ लोक संस्कृति और परंपरा में समृद्ध है। यहाँ के लोगों का मुख्य व्यवसाय कृषि है, इसके बाद व्यापार और व्यवसाय है। विश्व बैंक के अनुसार, राजस्थान भी भारत के सबसे कम आय वाले राज्यों में से एक है।

कम आय वर्ग के लोग, दुर्भाग्य से वेतनभोगी नौकरी या स्वास्थ्य देखभाल जैसी सुविधाओं का लाभ नहीं उठा सकते हैं। हालांकि, सरकार चिकित्सा सुविधाओं का लाभ उठाने से संबंधित चुनौतियों को खत्म करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है।

गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना और आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना जैसी योजनाएं शुरू की जा रही है।

Table of Contents

Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Swasthya Bima Yojana 2023

30 अगस्त 2019 को घोषित की गयी आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी स्वास्थ्य बीमा योजना लाभार्थियों के लिए बहुत उपयोगी होने की उम्मीद है क्योंकि यह प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना और भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना का एकीकरण है।

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कि सरकार के तहत लोगों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए शुरू की गई एक स्वास्थ्य बीमा योजना है। इन योजनाओं का विलय किया गया है ताकि आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत अधिक योग्य परिवारों को लाभान्वित किया जा सके।

अवश्य पढ़े, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी स्वास्थ्य बीमा योजना के सुविधाएं

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना निम्नलिखित सुविधाओं की पेशकश करके पॉलिसी धारकों को लाभान्वित करती है:-

  • कैशलेस अस्पताल में भर्ती ( Cashless Hospitalisation) :- आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना के पॉलिसी धारक किसी भी नेटवर्क अस्पताल में कैशलेस उपचार का लाभ उठा सकते हैं। कैशलेस उपचार बीमाधारक को पॉलिसी के तहत कवर किए गए चिकित्सा खर्चों के लिए अस्पताल में भुगतान किए बिना उपचार का लाभ उठाने की अनुमति देता है। यह खर्च सरकार वहन करती है।
  • वाइड सम इन्शुर्ड रेंज ( Wide Sum Insured Range) :- कवर किए गए प्रत्येक परिवार के लिए मुख्य बीमा राशि ₹5,00,000 रुपये प्रति वर्ष के रूप में खंडित है। माध्यमिक बीमारियों के लिए 50,000 तृतीयक बीमारियों के लिए 4,50,000 रुपये का आवंटन है।
  • अस्पतालों का विशाल नेटवर्क ( Huge Network of Hospitals) :- नेटवर्क अस्पतालों की बड़ी संख्या बीमाधारक के लिए चिकित्सा आपात स्थिती के समय उपचार प्राप्त करना आसान बनाती है। बीमाधारक के लिए नेटवर्क अस्पताल तक पहुंचना आसान होगा यदि वह बीमाधारक के आसपास स्थित हैं। इस योजना के तहत कई नेटवर्क अस्पताल है जहाँ बीमित व्यक्ति कैशलेस उपचार का लाभ उठा सकता है।
  • फैम्ली फ्लोटर बेसिस पर हेल्थ इंश्योरेंस ( Health Insurance on family Floater Basis) :- आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना एक फैम्ली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी है, जहाँ परिवार के सभी सदस्य बीमा पॉलिसी के तहत बीमित राशि का उपयोग कर सकते हैं। फैम्ली फ्लोटर स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी फायदेमंद है क्योंकि यह सभी बीमित परिवार के सदस्यों को चिकित्सा सुविधाओं का लाभ उठाने की अनुमति देती है। अलग- अलग समय पर इलाज का लाभ उठाते हुए स्वास्थ्य बीमा के दावे करते हुए इस योजना से लाभान्वित हो सकते हैं।

Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Health Yojana Highlights

स्कीमआयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना
योजना का शुभारंभमुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा
राज्यराजस्थान
संबंधित विभागस्वास्थ्य एवं कल्याण विभाग, राजस्थान
लाभार्थीराज्य के गरीब परिवार के नागरिक
इलाजनिःशुल्क
लाभप्रतिवर्ष 5 लाख रूपए तक का मुफ्त इलाज
लाभार्थी परिवार1.10 करोड़
उद्देश्यस्वास्थ्य सुविधाएँ निशुल्क प्रदान करना
इंश्योरेंस कवर₹5,00,000
वर्ष2023
आधिकारिक वेबसाइटhealth.rajasthan.gov.in

इसे भी पढ़े, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना प्रीमियम

राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत अस्पताल में भर्ती, 5 दिन पहले तथा 15 दिन बाद तक का मेडिकल खर्च भी कवर किया जाएंगा। इस योजना के तहत लाभ उठाने के लिए लाभार्थियों को अपना आधार कार्ड या जन आधार कार्ड दिखाना अनिवार्य है। आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत कुल वार्षिक प्रीमियम 1750 करोड़ रुपए का है।

इस योजना के अंतर्गत पहले 1401 पैकेज उपलब्ध थे जिसे बढ़ाकर 1576 कर दिया गया है। इस योजना के तहत स्टेट पोटेबिलिटी भी शुरू की जाएगी। इस पोर्टेबिलिटी के माध्यम से लाभार्थियों का दूसरे राज्यों में भी मुफ्त इलाज करवाया जा सकेगा। जो आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना का मुख्य भाग है।

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा का उद्देश्य

AB-MGRSBY Rajasthan का मुख्य उद्देश्य गरीब परिवारों को एक बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ उपलब्ध कराना है. इस योजना में वैसे परिवार शामिल होंगे जिनको राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम एवं सामाजिक, आर्थिक जाति आधारित जनगणना के आधार पर आयुष्मान भारत योजना में सम्मिलित किया गया है.

राजस्थान के नागरिक पैसे बिना अपना ₹50,0,000 तक का इलाज मुफ्त में करवा पाएंगे। इन योजना के आधार पर नागरिक सूचीबद्ध निजी एवं सरकारी अस्पतालों में इलाज करवा सकते है।

अवश्य पढ़े, राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए पात्रता

राजस्थान भारत के सबसे कम आय वाले राज्यों में से एक है। यही कारण है कि राजस्थान में आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान  स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की गई है, जिसका उद्देश्य निम्न आय वर्ग के परिवारों को लाभान्वित करना है, जिनके पास गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा नहीं है। आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए पात्रता मानदंड नीचे दिए गए हैं:-

  • आवेदक परिवार को राजस्थान का स्थायी निवासी होना आवश्यक है।
  • परिवार को आयुष्मान भारत योजना से जुड़ें रहना होगा।
  • SECC पर अधारित पात्र लाभार्थी परिवार के सदस्य सामाजिक, जाति और आर्थिक जनगणना पर निर्भर करते हैं। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत परिवार के सदस्य इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • आधार कार्ड, भामाशाह कार्ड/पावती पर्ची वाले लाभार्थी

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ सभी पंजीकृत अस्पतालों में जन आधार कार्ड या भामाशाह कार्ड के माध्यम से प्रदान किया जाता है। योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी परिवारों की पहचान के लिए आवश्यक दस्तावेज कुछ इस प्रकार है:-

  • NFSA के तहत परिवारों के लिए भामाशाह कार्ड/भामाशाह पावती पर्ची
  • राशन कार्ड
  • माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा लिखित आयुष्मान भारत योजना के लिए पात्रता पत्र
  •  आधार कार्ड
  • 23 अंकों का HHID नम्बर
  • जन आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास का प्रमाण
  • आयु का प्रमाण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

NOTE:- आधार कार्ड और राशन कार्ड नंबर को भामाशाह कार्ड से कनेक्ट करना और नजदीकी ई मित्र केंद्र पर जाकर प्राप्त करना अनिवार्य है।

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे करे

Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Swasthya Bima Yojana Registration
  • होम पेज से अप्लाई ऑनलाइन के लिंक पर क्लिक करे।
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक एप्लीकेशन फॉर्म खुलेगा।
  • एप्लीकेशन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी दर्ज करे।
  • फॉर्म में अपने सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करे।
  • अंत में सबमिट के बटन पर क्लिक करे।
  • इस प्रकार Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Swasthya Bima Yojana के अंतर्गत सफलतापूर्वक आवेदन कर सकते है।

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना में ऑफलाइन आवेदन कैसे करे?

  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए अपने क्षेत्र के नजदीकी ई मित्र केंद्र में जाएँ।
  • या अपने जिले के स्वास्थ्य विभाग में जाएँ।
  • स्वास्थ्य विभाग से योजना से सम्बंधित फॉर्म प्राप्त करे।
  • फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज करे।
  • इसके साथ आवश्यक दस्तावेजों को अटैच करे।
  • फॉर्म पूरी तरह चेक करने के बाद फॉर्म स्वास्थ्य विभाग में जमा करे।
  • आपका आवेदन सफलतापूर्वक हो गया।

AB-MGRSBY लाभार्थी सूची कैसे चेक करे?

Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Swasthya Bima Yojana List
  • इसके बाद आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के लिंक पर क्लिक करे जैसा इमेज में दिखाया गया है।
Mahatma Gandhi Swasthya Bima Yojana Suchi List
  • इसके बाद नगर निकाय, क्षेत्र तथा जिले का चयन करे।
  • अब खोजें के बटन पर क्लिक करे।
  • लाभार्थी सूची आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर खुलेगी।
  • इस प्रकार आप AB-MGRSBY लाभार्थी सूची देख पाएँगे।

Contact Information

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी यहाँ प्रदान किया गया है। यदि अभी भी किसी प्रकार की समस्या का सामना कर रहे हैं, तो हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं.

  • Toll Free Helpline No. 1800 180 6127
  • Email Id:jansoochna@rajasthan.gov.in

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना का दूसरा चरण

  • स्वास्थ्य देखभाल पैकेज की संख्या 1401 से बढ़ाकर 1576 कर दी गई है।
  • इस योजना के पैकेज की सूची में कोविड 19 का उपचार और हेमोडायलिसिस को भी शामिल किया गया है।
  • पहले, एक पात्र परिवार को प्रतिवर्ष 3.3 लाख का कवरेज मिल रहा था, जिसे अब आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत बढ़ाकर 5 लाख कर दिया गया है।
  • पहले मरीजों को सामान्य बीमारी के लिए ₹20,000 और गंभीर बीमारियों के लिए ₹3,00,000 का कवर मिलता था, लेकिन इसे भी बढ़ाकर क्रमश: ₹50,000 रुपये और 4.5 लाख रुपये कर दिया गया है।
  • पहले 98 लाख परिवार इस योजना के तहत आते थे, लेकिन अब 1.1 करोड़ परिवार लाभान्वित होंगे, जो राज्य की लगभग दो तिहाई आबादी के लिए जिम्मेदार है।
  • इस योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने के 5 दिन पहले और छुट्टी के 15 दिन बाद OPD और टेस्ट पर खर्च की गई राशि की भी प्रतिपूर्ति की जा सकती है।
  • आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना को राज्य स्वास्थ्य आश्वासन एजेंसी ( SHAA), जयपुर द्वारा लागू किया जाएगा।
  • पैनल में शामिल निजी और सरकारी अस्पतालों में कैशलेस इलाज की सुविधा दी जाएगी।

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान बीमा योजना के तहत राज्य के लिए लागत

राज्य सरकार NFSA लाभार्थियों के प्रीमियम का 100% वहन करेगी और केंद्र सरकार द्वारा पूर्व निर्धारित प्रीमियम का 60% का भुगतान केंद्र करेगी। वह भी केवल SECC श्रेणी के अंतर्गत आने वाले परिवारों के लिए।

राजस्थान में,भुगतान की गई वास्तविक प्रीमियम राशि ₹1662 प्रति परिवार है। इस प्रकार, राज्य सरकार 1052 रूपये के पूर्व निर्धारित प्रीमियम के कुल अंतर का भुगतान करेगी और ₹1662 का वास्तविक प्रीमियम SECC श्रेणी के लाभार्थियों के लिए भी है।

इस योजना पर सालाना 1800 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है और राज्य सरकार 1400 करोड़ रुपये की लागत का 80% वहन करेगी, शेष 400 करोड़ केंद्र सरकार द्वारा प्रदान किए जाएंगे।

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत बहिष्करण

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना निम्नलिखित के लिए बीमित व्यक्ति को कवर नहीं करती है:-

  1. टीकाकरण
  2.  मामूली शर्तें, अस्पताल में भर्ती करने की आवश्यकता नहीं है जब तक कि नीती में ना कहा गया हो।
  3. लिग उपचार में परिवर्तन
  4.  विटामिन और टॉनिक जब तक उपचार के कारण आवश्यक न हो
  5. आवश्यक दंत चिकित्सा उपचार
  6. आत्महत्या सहित आत्म नुकसान
  7.  कोई भी कार्य जन्मजात रोग, दोष या विसंगतियाँ किसी भी नशीले पदार्थ के अति प्रयोग के कारण आवश्यक उपचार

आयुष्मान भारत महात्मा गाँधी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत लाभार्थियों की पहचान और लाभ

  • राज्य में सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना 2011 में 60 लाख परिवार सूचीबद्ध हैं। इसके अलावा,NFSA के तहत 1 करोड़ परिवार शामिल हैं।
  • लेकिन, SECC 2011 में सूचीबद्ध 60 लाख परिवारों में से 80% परिवार भी NFSA के अंतर्गत आते हैं और उन्हें पहले से ही भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ मिल रहा था।
  •  अब SECC में सूचीबद्ध शेष 20% परिवार, जो लगभग 10 लाख है, जिन्हें पहले भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ नहीं मिल रहा था, उन्हें अब कैशलेस बीमा योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • इसलिए लाभ पाने वाले परिवारों की कुल संख्या 1,00,00,000 से बढ़ाकर 1.1 करोड़ की जाएगी।

Ayushman Bharat Mahatma Gandhi Swasthya Bima Yojana Package List

पैकेजस्पेशलिटीकोड
Septoplasty + FESSENT39020001
Chelation Therapy for Thalassemia MajorGeneral Medicine19100001A
AppendicectomyGeneral Surgery39010001
PemetrexedMedical Oncology29160020A
Lensectomy + VitrectomyOphthalmology39070001
Pacemaker implantation – TemporaryCardiology & CTVS19120001A
FistulectomyDentistry19110001A
Colonoscopy with BiopsyGastrology29190001A
Prolapse Uterus LeFort’sObstetrics & Gynecology39040001
PneumonectomyChest Surgery29140002A

Leave a Comment