सुकन्या समृद्धि योजना: योग्यता, ब्याज दर, टैक्स में हुए बड़े बदलाव

Sukanya Samriddhi Yojana | Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi | सुकन्या समृद्धि योजना कैलकुलेटर | सुकन्या समृद्धि योजना इंटरेस्ट रेट | Sukanya Samiriddhi Yojana Registration | Sukanya Samriddhi Yojana Details

सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार द्वारा चलाया जा रहा एक महत्वपूर्ण योजना है. इस योजना का लक्ष्य माता पिता को उनकी बेटी के भविष्य की शिक्षा और शादी के खर्च के लिए एक फंड बनाने के लिए प्रोत्साहित करना है।

Sukanya Samriddhi Yojana बालिकाओं के लाभ के लिए सरकार समर्थित छोटी बचत योजना है। यह बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना का एक हिस्सा है और इसे 10 साल से कम उम्र की लड़की के अभिभावकों द्वारा खोला जा सकता है।

इसे नामित बैंको या डाकघरों में खोला जा सकता है। सुकन्या समृद्धि खाते की अवधि 21 वर्ष या 18 वर्ष की आयु के बाद बालिका की शादी होने तक होती है। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं।

SSY योजना अन्य बचत योजनाओं की तुलना में अधिक ब्याज दर प्रदान करता है जो बालिकाओं के लिए वित्तीय सुरक्षा प्रदान करती है। प्रत्येक वित्तीय वर्ष में, सरकार उस ब्याज दर की घोषणा करती है, जो आपके निवेश पर ब्याज वार्षिक रूप से संयोजित होता है।

योजना की परिपक्वता अवधि 21 वर्ष है। युवतियों के लिए 14 वर्ष पूरे होने तक एक वर्ष में कम से कम एक योगदान करना अनिवार्य है। Sukanya Samriddhi Yojana कैलकुलेटर यह मान लेगा कि जमा की समान राशि वार्षिक आधार पर की जाती है। वर्ष 15 और वर्ष 21 के बीच कोई जमा करने की आवश्यकता नहीं है।

Sukanya Samriddhi Yojana बालिकाओं को उज्वल भविष्य  प्रदान करने के लिए बनाया गया है। यह 7.6% कि उच्च ब्याज दर और 80c के तहत कर लाभ प्रदान करता है।

Table of Contents

सुकन्या समृद्धि योजना | Sukanya Samriddhi Yojana Details

Sukanya Samriddhi Yojana 22 जनवरी 2015, को पानीपत, हरियाणा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई थी। खाते किसी भी भारतीय डाक घर या कुछ अधिकृत बैंक की शाखा में खोले जा सकते हैं। शुरू में, ब्याज दर 9.1% पर निर्धारित की गई थी, लेकिन बाद में वित्त वर्ष संशोधित कर 9.2% कर दिया गया। वित्त वर्ष 2021-22 के लिए ब्याज दर को संशोधित कर 7.6% कर दिया गया है।

खाता बालिका के जन्म और उसके माता पिता द्वारा 10 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बीच में कभी भी खुलवाया जा सकता है। प्रति बच्चे केवल एक खाते की अनुमति है। माता पिता अपने प्रत्येक बच्चे के लिए अधिकतम दो खाते खोल सकते हैं ( जुड़वां और तीन बच्चों के लिए अपवाद ) खाते को भारत में कहीं भी स्थानांतरित किया जा सकता है।)

खाते शुरुआत में कम से कम ₹250 जमा करने होंगे। इसके बाद, ₹100 के गुणकों में कोई भी राशि जमा की जा सकती है। हालांकि अधिकतम जमा सीमा 150,000 है। यदि एक वर्ष में न्यूनतम जमा 250,(शुरुआत में जो 1000 था) नहीं किया जाता है, तो 50 का जुर्माना लगाया जाएगा।

लड़की 10 वर्ष की आयु तक पहुंचने के बाद अपना खाता संचालित कर सकती है। खाता 18 वर्ष की आयु में उच्च शिक्षा उद्देश्यों के लिए 50% निकासी की अनुमति देता है।

खाता खोलने की तारीख से 21 वर्ष की समयावधि के बाद परिपक्वता तक पहुँचता है। खाता खोलने की तिथि से 15 वर्ष पूर्ण होने तक जमा किया जा सकता है। इस अवधि के बाद खाता केवल लागू ब्याज दर अर्जित करेगा। यदि खाता बंद कर दिया जाता है, तो उस पर प्रचलित दर पर ब्याज नहीं मिलेगा। यदि लड़की की आयु  18 वर्ष से अधिक है, और विवाहित हैं तो सामान्य बंद की अनुमति है।

Sukanya Samriddhi Yojana (SSY) की मुख्य बातें

योजना का नामसुकन्या समृद्धि योजना
उद्देश्यबालिकाओं के कल्याण को बढ़ावा देना
जमा की अवधीजमा की अवधी खाता खोलने के तिथि से 21 वर्ष है
ब्याज दर7.6% प्रति वर्ष (तीसरी तिमाही, वित्तीय वर्ष 2021-22)
मैच्योरिटी पीरियड21 साल या जब तक बालिका 18 साल की नहीं हो जाती है
न्यूनतम डिपॉज़िट राशि₹ 250
अधिकतम डिपॉज़िट राशिएक वित्तीय वर्ष में ₹ 1.5 लाख
परिपक्कताखाता खुलने के तारीख से 21 की अवधी पूरी होने पर परिपक्क होगा
योग्यता10 वर्ष से कम आयु की बालिका के माता-पिता या कानूनी अभिभावक बालिका के नाम पर SSY अकाउंट खोलने के योग्य हैं
कर लाभसुकन्या समृद्धि योजना में अंशदान आईटी अधिनियम 80 C के तरत कर लाभ के लिए योग्य है
भुगतान के माध्यमऑनलाइन transaction, नगद, चेक, आदि
इनकम टैक्स छूटआयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80सी के तहत छूट (एक वर्ष में अधिकतम 1.5 लाख रुपये)
लाभार्थीदेश की बालिकाएं
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://www.nsiindia.gov.in/

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए पात्रता

  • केवल एक बालिका के माता पिता या कानूनी अभिभावक ही सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोल सकते हैं।
  • खाता खोलते समय बालिका की आयु 10 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • अर्थात, सुकन्या समृद्धि योजना के तहत, बालिकाओं के अभिभावक बचत खाता खोल सकते हैं। जब तक वह बालिका 10 वर्ष की नहीं हो जाती है।
  • बालिका के नाम पर केवल एक ही खाता खोला जा सकता है।

Note:-सुकन्या समृद्धि खाता कुछ विशेष मामलों में दो से अधिक लड़कियों के लिए खोला जा सकता है जैसे:-

  • एक परिवार के लिए केवल और केवल दो समृद्धि योजना खातों की अनुमति है अर्थात, प्रत्येक बालिका के लिए एक खाता।
  • यदि जुड़वाँ या तीन लड़कियों के जन्म से पहले एक लड़की का जन्म होता है या यदि पहले तीन बच्चे पैदा होते हैं, तो तीसरा खाता खोला जा सकता है।
  • यदि जुड़वा या तीन लड़कियों के जन्म के बाद एक लड़की का जन्म होता है, तो तीसरा Sukanya Samriddhi Yojana खाता नहीं खोला जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए दस्तावेज

  • सुकन्‍या समृद्धि योजना खाता खोलने का प्रपत्र
  • आवेदन पत्र
  • कन्या का जन्म प्रमाण पत्र
  • जमाकर्ता का आईडी प्रूफ
  • जमाकर्ता का निवास प्रमाण पत्र
  • चिकित्सा प्रमाण पत्र
  • अन्य दस्तावेज जो बैंक या डाकघर द्वारा मांगे गए हो

सुकन्या समृद्धि योजना कि ब्याज दर

इस योजना के तहत खाते में जमा राशि पर प्रत्येक वर्ष भारत सरकार की ओर से ब्याज दरों की घोषणा की जाती है. सुकन्या समृद्धि योजना, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कैंपेन के अंतर्गत लांच किया गया था। जिसका मुख्य उद्देश्य बेटियों के भविष्य को सुरक्षित करना है। इस योजना के अंतर्गत किए गए सभी निवेश को कन्या के विवाह एवं उच्च शिक्षा के लिए उपयोग किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दर सरकार द्वारा तिमाही घोषित की जाती है। अक्टूबर, दिसंबर वित्त वर्ष 2021-22 के लिए, ब्याज दर 7.6% प्रति वर्ष निर्धारित की गई है।

Note:-

इस योजना की अवधि पूरी होने के बाद या फिर कन्या यदि NIR या non सिटिजन बन जाती है तो इस स्थिति में ब्याज प्रदान करने की प्रावधान नही है. तिमाही आधार पर सरकार द्वारा ब्याज दर निर्धारित की जाती है, जो अक्शर बदलता रहता है.

इसे भी पढ़े, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

समय अवधिब्याज दरें
अक्टूबर से दिसंबर 2021-227.6
जुलाई से सितंबर 2021-227.6
अप्रैल से जून 2021-227.6
जनवरी से मार्च 2020-217.6
अक्टूबर से दिसंबर 2020-217.6
जुलाई से सितंबर 2020-217.6
अप्रैल से जून 2020-217.6
जनवरी से मार्च 2019-208.4
अक्टूबर से दिसंबर 2019-208.4
जुलाई से सितंबर 2019-208.4
अप्रैल से जून 2019-208.5
जनवरी से मार्च 2018-198.5
अक्टूबर से दिसंबर 2018-198.5
जुलाई से सितंबर 2018-198.1
अप्रैल से जून 2018-198.1
जनवरी से मार्च 2017-188.1
अक्टूबर से दिसंबर 2017-188.3
जुलाई से सितंबर 2017-188.3
अप्रैल से जून 2017-188.4

सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश के लाभ

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के पहल के हिस्से के रूप में शुरू की गई Sukanya Samriddhi Yojana निवेशकों को कई तरह के लाभ प्रदान करती है। इस योजना के कुछ प्रमुख लाभ इस प्रकार है:-

उच्च ब्याज दर( High Interest Rate):जैसे अन्य सरकार के कर बचत योजनाओं की तुलना में सुकन्या समृद्धि योजना उच्च निश्चित दर की वापसी की पेशकश करता है।
गारंटी रिटर्न(Guaranteed Returns):चुकी सुकन्या समृद्धि योजना कर बचत योजना है,इसलिए यह गारंटी रिटर्न प्रदान करती है।
कर लाभ( Tax Benefit):सुकन्या समृद्धि योजना धारा 80c के तहत 1.5 लाख तक कर कटौती लाभ प्रदान करता है।
लचीला निवेश( Flexible Investment):एक वर्ष में कोई भी व्यक्ति न्यूनतम 250 रुपये जमा कर सकते हैं और अधिकतम साल में 1.5लाख रुपये।यह सुनिश्चित करता है कि विभिन्न वित्तीय स्थिती वाले लोग इस योजना में निवेश कर सकते हैं।
कंपाउंडिंग का लाभ( Benefits of compounding)सुकन्या समृद्धि योजना एक लंबी अवधि के निवेश योजना है क्योंकि यह वार्षिक चक्रवृद्धि का लाभ प्रदान करती है। यह योजना, छोटे निवेश में भी लंबी अवधि में शानदार रिटर्न देंगे।
सुविधाजनक स्थानांतरण( Convenient Transfer):सुकन्या समृद्धि खाता का संचालन करने वाले माता पिता/अभिभावक के स्थानांतरण के मामले में SSY खाते को देश के एक हिस्से से दूसरे (बैंक या डाक घर) मैं स्वतंत्र रूप से स्थानांतरित किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना जमा सीमा

सुकन्या समृद्धि खाते में न्यूनतम वार्षिक योगदान ₹250 और अधिकतम योगदान एक वित्तीय वर्ष में 1.5 लाख रुपये कर सकते हैं। खाता खोलने की तारीख से 15 साल तक, हर साल कम से कम न्यूनतम राशि का निवेश करना होगा। इसके बाद खाते में परिपक्कता तक ब्याज मिलता रहेगा।

Note: एक महीने में या एक वित्‍त वर्ष के दौरान रकम जमा करने की बारम्‍बारता की कोई सीमा निर्धारित नहीं है।

केंद्र सरकार ने Sukanya Samriddhi Yojana में प्रतिवर्ष न्यूनतम जमा राशि की सीमा में 1,000 रुपये से घटाकर 250 रुपये कर दी है। सरकार के इस कदम से योजना के उपभोक्ताओं की संख्या लगातार बढ़ रही है। मोदी सरकार ने जनवरी, 2015 में देश के बेटियों के नाम पर यह बचत योजना शुरू की थी।

  • यदि जमाकर्ता द्वारा किसी वर्ष न्यूनतम राशि जमा नहीं की गई तो इस स्थिति में अकाउंट डिफॉल्ट हो जाता है और अकाउंट को ₹50 का भुगतान करके दोबारा से एक्टिव किया जा सकता है।
  • यदि जमा करता द्वारा अधिकतम राशि से ज्यादा राशि जमा की गई है तो इस स्थिति में अतिरिक्त राशि पर कोई ब्याज नहीं प्रदान किया जाता है।

सुकन्या समृद्धि योजना कार्यकाल/परिपक्वता अवधि

Sukanya Samriddhi Yojana का कार्यकाल लड़की के 21 वर्ष की आयु या 18 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद उसकी शादी के समय के बराबर है। हालांकि, योगदान केवल 15 वर्षों के लिए करने की आवश्यकता है। इसके बाद खाता परिपक्वता तक ब्याज अर्जित करना जारी रखता है, भले ही इसमें कोई जमा किया जाए या न किया जाए।

परिपक्वता अवधि के अनुसार खाताधारक केवल तभी राशि निकाल सकता है जब वह 18 वर्ष की आयु प्राप्त करता है. और राशि का उपयोग उच्च अध्ययन और विवाह के लिए किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना की अन्य प्रमुख विशेषताएं

  • यदि कोई सुकन्या समृद्धि योजना खाताधारक ₹250 के न्यूनतम जमा राशि भी नहीं कर पाता है तो वैसे खातों को डिफ़ॉल्ट खाता कहा जाएगाा।
  • परीवक्ता तिथि तक,यह डिफ़ॉल्ट खाता योजना में लाखों ब्याज दर अर्जित करेगा। हालांकि, डिफ़ॉल्ट खाते को कम से कम रुपये का भुगतान करके खाता खोलने के 15 साल पूरे होने से पहले भी पुनर्जीवित किया जा सकता है। 250+50 रुपए डिफ़ॉल्ट राशि के रूप में देकर।
  • एक बालिका 18 वर्ष की आयु के बाद अपना खाता संचालित कर सकती है। वह डाकघर, बैंक जहाँ खाता है, वहाँ सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद सुकन्या समृद्धि योजना के संचालन के लिए पात्र होती है।
  • पिछले वित्त वर्ष के अंत में उपलब्ध शेष राशि के 50% तक खाते से निकासी भी की जा सकती है।
  • एक बार जब लड़की की उम्र 18 वर्ष से अधिक हो और 10 वीं कक्षा उत्तीर्ण की हो, उच्च शिक्षा से संबंधित खर्चों जैसे शुल्क यह अन्य ऐसे शुल्कों को पूरा करने के लिए एक वर्ष में अधिकतम एक निकासी की अनुमति दी गई है।
  • अधिकतम पांच वर्षों के लिए, निर्दिष्ट सीमा के अधीन और शुल्क/अन्य शुल्कों की वास्तविक आवश्यकता के अधीन की जा सकती है।

अवश्य पढ़े, प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना: पात्रता, आवेदन आदि की जानकारी

Sukanya Samriddhi Yojana खाते का समय से पहले बंद होना

शादी के खर्च के उद्देश्य से 18 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर बालिका द्वारा ही समय से पहले बंद किया जा सकता है। हालांकि, कुछ विशेष मामले हैं जिनके तहत खाता बंद किया जा सकता है और संबंधित राशि निकाली जा सकती है:-

  • खाताधारक की असमायिक मौत:- यदि पंजीकृत बालिका की दुर्भाग्य से मृत्यु हो जाती है, तो माता पिता या कानूनी अभिभावक खाते पर अंतिम राशि और अर्जित ब्याज पर भी दावा करने के पात्र होते हैं। राशि तुरंत खाते के नामांकित व्यक्ति को सौंप दी जाएगी। साथ ही, माता पिता या कानूनी अभिभावक को संबंधित अधिकारियों द्वारा विधिवत सत्यापित खाता धारक की मृत्यु की पुष्टि करने वाले प्रासंगिक दस्तावेज जमा करने होंगे।
  • खाता जारी रखने में असमर्थता:-सुकन्या समृद्धि खाता समय से पहले बंद किया जा सकता है. यदि खाते को आगे बढ़ाने के लिए डिपोजिटरी की अक्षमता के संबंध में केंद्र सरकार की ओर से किसी भी प्रकार का निर्देश है। खाते में योगदान के कारण जमाकर्ता को किसी भी प्रकार का वित्तीय तनाव होने की स्थिती में भी बंद करने की प्रक्रिया की जा सकती है। इसके अलावा, खाते को बंद करने और निपटाने की प्रक्रिया के लिए सक्षम अधिकारियों से उचित अनुमति लेनी होगी।

Note:-
यह ध्यान देना चाहिए कि सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता बंद करना केवल गंभीर मामलों जैसे की जानलेवा बीमारियों या चिकित्सा आपात स्थितियों के तहत ही पूरा किया जाएगा।

इसे भी पढ़े, फ्री सिलाई मशीन रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरे

सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश कैसे करें?

इस योजना में अपने नजदीकी डाकघर या भाग लेने वाले सार्वजनिक और निजी बैंको की नामित शाखाओं के माध्यम से निवेश कर सकते हैं। आपको केवाईसी दस्तावेज जैसे पासपोर्ट, आधार कार्ड आदि आवश्यक फॉर्म और चेक/ड्राफ्ट द्वारा प्रारंभिक जमा के साथ जमा करने होंगे।

निवेशकों को सुकन्या समृद्धि योजना आवेदन पत्र भरना होगा, जिससे नजदीकी डाकघर या भाग लेने वाले सार्वजनिक/निजी क्षेत्र के बैंक में जाकर प्राप्त किया जा सकता है। वैकल्पिक रूप से निम्न स्रोतों से सुकन्या समृद्धि योजना नया खाता आवेदन पत्र भी डाउनलोड कर सकते हैं:-

  • भारतीय रिज़र्व बैंक की वेबसाइट
  • दी इंडिया पोस्ट वेबसाइट
  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंको (SBI, PNB, BOB)
  • भाग लेने वाले निजी क्षेत्र के बैंको की वेबसाइटें जैसे; ICIC, Axis bnk और HDFC bank

इसे भी पढ़े, प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना की पूरी जानकारी

निवेश की शर्तें एवं नियम

खाता खुलवाने की आयु:सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता बालिका की 10 वर्ष की आयु होने से पहले अभिभावक द्वारा खोला जा सकता है।
खाते की संख्या:एक लड़की के लिए केवल एक ही खाता खोला जा सकता है।
परिवार के खाताधारकों की संख्या:एक परिवार की केवल दो बेटियां ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं।
जुड़वा बेटियों की स्थिति में खाताधारक की संख्या:यदि जुड़वा या ट्रिपलेट बेटियों का जन्म होता है तो उस स्थिति में 2 से अधिक खाते भी खोले जाने की प्रावधान है।
खाते का संचालन:सुकन्या समृद्धि खाते को खाताधारक की 18 वर्ष की आयु होने तक खाता धारक के अभिभावक द्वारा संचालित किया जाता है।

अधिकतम एवं न्यूनतम राशि जमा करने के नियम

खाता खोलने के लिए न्यूनतम राशि:इस योजना के अंतर्गत न्यूनतम 250 रुपए में खाता खोला जा सकता है।
न्यूनतम प्रतिवर्ष निवेश:प्रत्येक वर्ष इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को 250 रुपए का निवेश करना होगा।
अधिकतम निवेश राशि:सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अधिकतम ₹150000 तक की राशि का निवेश किया जा सकता है।
निवेश करने की अवधि:इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने की तिथि से 15 साल तक निवेश किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना के लिएआवेदन फॉर्म कैसे भरें

Sukanya Samriddhi Yojana आवेदन फॉर्म में बालिका के संबंध में सभी आवश्यक जानकारी एवं documents की आवश्यकता होती है, जिसके नाम पर बेटी बचाओ, बेटी पढाओ योजना के तहत निवेश किया जाता है. 

इच्छुक लाभार्थी जो इस योजन के अंतर्गत बचत खाता खोलने के लिए आवेदन करना चाहते है, उन्हें सबसे पहले सुकन्या समृद्धि योजना अकॉउंट ओपनिंग फॉर्म को डाउनलोड करना होता है. उसके बाद निचे दिए गए डिटेल्स को फॉर्म में भरना होता है.

  • बालिका का नाम (प्राथमिक खाता धारक)
  • अकाउंट खोलने वाले माता-पिता/अभिभावक का नाम
  • प्रारंभिक जमा राशि
  • चेक/डीडी नंबर और दिनांक
  • बालिका की जन्म तिथि
  • खाताधारक के जन्म प्रमाण पत्र का विवरण
  • माता-पिता/अभिभावक का पहचान पत्र (ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, आदि)
  • वर्तमान और स्थाई पता
  • किसी अन्य KYC दस्तावेज की जानकारी जैसे; (पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, आदि)

फॉर्म में जानकारी के भरने के बाद, सभी ज़रूरी दस्तावेजों की कॉपी के साथ फॉर्म को पोस्ट ऑफिस/बैंक में जमा कर दें

अवश्य पढ़े, फ्री सिलाई मशीन योजना: पात्रता, आवेदन पत्र आदि की जानकारी

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए अधिकृत बैंक

Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा अधिकृत कुल बैंकों की संख्या 28 हैं। निम्नलिखित में से किसी भी बैंक में SSY खाता नियम एवं शर्त के अनुसार खोल सकते हैं.

  • इलाहाबाद बैंक
  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  • ऐक्सिस बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (SBH)
  • पंजाब एंड सिंध बैंक (PSB)
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • आंध्रा बैंक
  • सिंडीकेट बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर (SBBJ)
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BOM)
  • बैंक ऑफ इंडिया (BOI)
  • कॉर्पोरेशन बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (CBI)
  • केनरा बैंक
  • देना बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB)
  • स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (SBP)
  • स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर (SBT)
  • आईडीबीआई बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC)
  • स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (SBM)
  • इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB)
  • यूको बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • विजय बैंक
  • भारतीय बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB)

सुकन्या समृद्धि योजना कैलकुलेटर

किसी भी निवेश का लाभ केवल इस आधार पर निर्धारित किया जाता है कि समय के साथ निवेश में कितनी की बढ़ोतरी हुई है। दरअसल, केलकुलेटर प्रतिवर्ष किए गए निवेश और आपके द्वारा उल्लेखित ब्याज दर जैसे विवरणों का उपयोग करके परिपक्वता राशि की डिटेल्स प्रदान करता है.

यदि आप सुकन्या समृद्धि योजना की सभी शर्तों को पूरा करते है, तो SSY Calculator का इस्तेमाल सरलता से किया जा सकता है. सबसे पहले अपनी बेटी की उम्र और Invest की गयी राशी डालनी होगी। इन दोनों जानकारी के आधार पर स्कीम की मैच्योरिटी राशि की गणना कर सकते है।

कैलकुलेटर का उपयोग निम्न तरीके से कर सकते है।

  • कैल्कुलेशन करने के लिए, बालिका की आयु और दिए गए योगदान की राशि अंकित करे
  • योजना के लिए योगदान की न्यूनतम राशि 250 रू.
  • योगदान की अधिकतम राशि 1,50,000 रू.
  • योजना की मैच्योरिटी अवधि 21 वर्ष

अपने योगदान के अनुसार जमा राशि को समायोजित करके आसानी से ऑफ़लाइन कैल्कुलेशन कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनाप्रधानमंत्री रोजगार योजना
प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजनाश्रम योगी मानधन योजना

FAQs: Sukanya Samriddhi Yojana Details

Q. सुकन्या योजना की क्या स्कीम है?

इस योजना के अंतर्गत1,000 रूपये जमा करने पर 7.6​​% ब्याज दर प्राप्त होगा. अर्थात, सुकन्या समृधि खाते में प्रति माह 1,000 रुपए जमा करते है, तो योजना की मेट्योरिटी पर कुल 5 लाख 9 हजार 212 रुपए प्राप्त होंगें.

Q. क्या मैं सुकन्या समृद्धि खाता खोल सकता हूं?

हाँ, यदि आप किसी कन्या के माता या पिता है, तो सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता बालिका के नाम पर, बालिका के 10 वर्ष की आयु प्राप्त करने से पहले खोल सकते है. ध्यान रहे, प्रति बालिका केवल एक खाते की अनुमति प्रदान की गई है.

Q. सुकन्या खाता खोलने से क्या लाभ है?

यदि आप सकान्य समृद्धि योजना के अंतर्गत अपने बालिका की खाता खोलते है, तो खाताधारकों को 7.6% का रिटर्न मिलता है. साथ ही 1.5 लाख रुपये के निवेश पर आपको इनकम टैक्स की धारा 80C के तहत विशेष छूट भी मिलता है.

Leave a Comment