बिहार मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना 2023: चयन प्रक्रिया

बिहार सरकार के परिवहन विभाग का निर्णय ऐसे समय में आया है जब राज्य का स्वास्थ्य ढांचा COVID-19 महामारी की दूसरी लहर के प्रकोप के कारण भारी दबाव में आ गया। जिसके परिणामस्वरूप संक्रमित रोगियों की बाढ़ आ गई है। जो Mukhyamantri Ambulance Yojana यानि एम्बुलेंस सेवाओं, ऑक्सीजन युक्त अस्पताल जैसी स्वास्थ्य सुविधाओं की मांग कर रहे हैं। एवं बिस्तर,  जीवन रक्षक दवाएं आदि की भी जरूरत पड़ रही है।

बिहार राज्य परिवहन विभाग ने योजना के तहत सूचीबद्ध मौजूदा वाहन विकल्पों में संशोधन करके मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत एंबुलेंस की खरीद पर सब्सिडी की घोषणा की है। अधिकारियों ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में एंबुलेंस सेवाओं की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए ऐसा किया गया है।

Mukhyamantri Ambulance Yojana

बिहार सरकार ने बिहार मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में एंबुलेंस खरीदने वालों को 50% या अधिकतम दो लाख रुपये की अनुदान राशि देने की घोषणा की है। जिसके लिए इच्छुक लाभार्थी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इससे पहले आठवें चरण में आवेदन करने वालों को नए आवेदन की आवश्यकता नहीं है। केवल वीडियो को लिखित में अपना विकल्प प्रस्तुत करना होगा कि वे बिहार मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना का लाभ उठा सकें।

NOTE:- बिहार मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत पात्र हितग्राहियों को कुल 1068 एम्बुलेंस अनुदान दिया जाएगा। जिसमें प्रत्येक प्रखंड में एक अनुसूचित जाति एवं एक अति पिछड़ा वर्ग के कुल दो व्यक्तियों को अनुदान दिया जाएगा। Mukhyamantri Ambulance Yojana का लाभ प्रदेश के 534 प्रखंडों में एंबुलेंस खरीदने वालों को दिया जाएगा। इस परिवहन योजना के तहत खरीदी गई सभी एंबुलेंस ऑक्सीजन युक्त और बुनियादी चिकित्सा सुविधाओं से लैस होगी।

अवश्य पढ़े, बिहार मुख्यमंत्री कन्या सुरक्षा योजना

बिहार मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना का लाभ

  • बिहार मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना की मदद से राज्य में शीघ्र ही एंबुलेंस की आपूर्ति की जाएगी।
  •  इस योजना की मदद से राज्य में रोजगार सृजित होंगे।
  • बिहार मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना के तहत लाभार्थियों को अपने घर तक इमरजेंसी स्वास्थ्य सुविधा मिलेगी।
  • मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना की मदद से ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचे का विकास किया जाएगा।
  •  एम्बुलेंस की बढ़ती मांग को भी पूरा किया जाएगा।

इसे भी पढ़े, बिहार वोटर लिस्ट

बिहार मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना का उद्देश्य

  • परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने कहा, “सभी एंबुलेंस ऑक्सीजन और बुनियादी चिकित्सा सुविधाओं से लैस होगी”।
  • मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना के तहत, प्रत्येक ब्लाक से पिछड़े वर्ग के दो लोगों को सब्सिडी दी जाएगी।
  •  जो कि वाहनों की लागत का 50% होगा।
  • 2018 में लॉन्च किया गया, मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में एम्बुलेंस की सुविधाओं को आसान बनाना और रोजगार पैदा करना है।
  • एक वरीष्ठ परिवहन अधिकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना के चरण आठ में 13,000 से अधिक आवेदन प्राप्त हुए हैं।
  •  जबकि कुल मिलाकर 36,000 लाभार्थियों ने अब तक प्रोत्साहन प्रस्ताव का लाभ उठाया है।
  • परिवहन विभाग के अनुसार, सभी एंबुलेंस ऑक्सीजन और बुनियादी चिकित्सा सुविधाओं जैसे स्ट्रेचर और प्राथमिक चिकित्सा किट से लैस होगी।
  •  एंबुलेंस सेवा का लाभ उठाने वाले लोगों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्धारित दरों के अनुसार भुगतान करना होगा।

NOTE:- Mukhyamantri Ambulance Yojana के तहत, 534 ब्लाकों में से प्रत्येक में दो एम्बुलेंस होगी और कुल 1068 वाहन आवंटित धन से खरीदे जा सकते हैं।इस योजना के लिए इच्छुक लाभार्थी परिवहन विभाग के अधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

वर्तमान परिस्थिति में सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में एंबुलेंस की उपलब्धता को बढ़ाया जाना अभी आवश्यक है। ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले बीमार लोगों को इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्रों तक पहुंचाने में परिवहन सुविधा उपलब्ध हो सके। इससे मरीजों को राहत मिलेगी।इसके लिए मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के अंतर्गत एम्बुलेंस क्रेय के लिए अनुदान का प्रावधान किया गया है।

बिहार मुख्यमंत्री एंबुलेंस खरीद पर अनुदान के लिए समय सारिणी

  • परिवहन विभाग, मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना में एम्बुलेंस को शामिल करने, अस्पतालों को दुरुस्त, आबादी को एंबुलेंस सेवा प्रदान करने की योजना, मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत एंबुलेंस की खरीद पर अनुदान दिया जाएगा।
  • विस्तृत जानकारी परिवहन विभाग की वेबसाइट State.bihar.gov.in पर उपलब्ध है।
  •  साथ ही DTO और BDO कार्यालय से भी संपर्क किया जा सकता है।
  • इस मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत, एंबुलेंस खरीदने पर बिहार सरकार द्वारा 50% परंतु अधिकतम 2,00,000 तक अनुदान दिया जाएगा।
  • बिहार के ब्लॉक में इस योजना का लाभ किसी दो व्यक्ति को दिया जाएगा।
  • Mukhyamantri Ambulance Yojana पर राज्य सरकार ने 21 करोड़ रुपये खर्च करने का फैसला किया है।

इसे भी पढ़े, भू नक्शा बिहार

बिहार मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना की चयन प्रक्रिया

  1. इच्छुक आवेदक इस योजना का लाभ लेने के लिए 10 सितंबर तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  2.  प्राप्त आवेदनों के आधार पर श्रेणीवार एवं उपलब्ध रिक्तियों के अनुसार मेरिट सूची तैयार की जाएगी।
  3. मेरिट सूची के आधार पर प्रति प्रखंड अनुमंडल स्तरीय समिति द्वारा एक अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं एक अति पिछड़ा वर्ग के लाभार्थी का चयन किया जाएगा।
  4. मेरिट सूची के आधार पर लाभार्थी का चयन उपखंड स्तरीय समिति द्वारा उपलब्ध रिक्तियों के अनुसार किया जाएगा।
  5. औरंगाबाद, बक्सर और कैमूर में लक्ष्य की प्राप्ति के कारण इन जिलों में नए आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे।

Mukhyamantri Ambulance Yojana – FAQs

1) बिहार मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना क्या है?

 कोरोना महामारी के बीच बिहार सरकार ने काफी महत्वपूर्ण फैसला लिया है। राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत 1000 से अधिक एंबुलेंस खरीदने के लिए अनुदान देने का फैसला किया है।

2) बिहार मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना का उद्देश्य किया है?

 वर्तमान परिस्थिति में सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में एंबुलेंस की उपलब्धता को बढ़ाया जाना अति आवश्यक है।इस योजना से ग्रामीण क्षेत्रों में गंभीर रोग से ग्रसित मरीजों को बड़े अस्पताल जाने में परेशानी नहीं होगी। पी के यह सभी एंबुलेंस और ऑक्सीजन युक्त तथा बेसिक चिकित्सा सुविधा के साथ लैस होगी। ग्रामीण क्षेत्रों में एंबुलेंस की कमी काफी समय से थी इस योजना के आ जाने से यह कमी कम होगी तथा स्थानीय लोगों को रोजगार मिलने के साथ- साथ चिकित्सा सुविधा भी उपलब्ध हो पाएगी।

3) मुख्यमंत्री एंबुलेंस योजना के तहत आवेदकों कितने प्रतिशत के अनुदान प्रदान की जाएगी?

 एम्बुलेंस की करय मूल्य का 50% परंतु अधिकतम दो लाख रुपये के अनुदान का प्रावधान किया गया है। प्रति प्रखंड अधिकतम दो लाभार्थियों को अनुदान का भुगतान किया जाएगा।

Leave a Comment